Different Types of Marketing जानिए विभिन्न प्रकार की मार्केटिंग शैलियों के बारे में

Safalta Experts Published by: Kanchan Pathak Updated Mon, 22 Aug 2022 11:12 PM IST

Highlights

आइए जानते हैं विविध शैलियों के मार्केटिंग के बारे में

व्यापार की दुनिया में विविध शैलियों के द्वारा मार्केटिंग किए जाते हैं. सीधे तौर पर कहें तो कुल 18 प्रकार की मार्केटिंग शैलियाँ हैं जिन्हें विभिन्न अध्यवसाय के मार्केटर्स ने पीढ़ियों से आजमाया, परखा और उन्नत किया है. इन 18 प्रकारों के मार्केटिंग शैलियों के उदहारण आप अपने आस-पास देख सकते हैं. ग्राहकों का दिल जीतने के लिए इन शैलियों को लगातार कॉपी और "रीमिक्स" किया जाता है. इस सूची में हीं कहीं किसी कम्पनी की मार्केटिंग को ऐसी सफलता भी मिल सकती है जो कि पूरी दुनिया हीं बदल दे. ये सभी शैलियां एक दूसरे से अलग हैं पर कहीं न कहीं इनमें कोई न कोई समानता भी है. आइए जानते हैं विविध शैलियों के मार्केटिंग के बारे में Click here to buy a course on Digital Marketing-  Digital Marketing Specialization Course
  • डिजीटल मार्केटिंग (Digital marketing)
  • सोशल मीडिया मार्केटिंग (Social media marketing)
  • ब्राण्ड मार्केटिंग (Brand marketing)
  • इनबाउंड मार्केटिंग (Inbound marketing) 
  • आउटबाउंड मार्केटिंग (Outbound marketing)
  • कन्टेंट मार्केटिंग (Content marketing)
  • ग्रोथ मार्केटिंग (Growth marketing)
  • सर्च इंजन मार्केटिंग (Search engine marketing)
  • बी2बी मार्केटिंग (B2B marketing)
  • बी2सी मार्केटिंग (B2C marketing)
  • एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate marketing)
  • ऑफलाइन मार्केटिंग (Offline marketing) 
  • डायरेक्ट मार्केटिंग (Direct marketing)
  • ईमेल मार्केटिंग (Email marketing)
  • इनफ्लुएंस मार्केटिंग (Influencer marketing)
  • इवेंट मार्केटिंग (Event marketing)
  • गुरिल्ला मार्केटिंग (Guerrilla marketing)
  • वर्ड ऑफ़ माउथ मार्केटिंग (Word-of-mouth marketing)
1. डिजिटल मार्केटिंग
जैसा कि हम जानते हैं कि डिजिटल मार्केटिंग आज कल किसी भी प्रकार के प्रचार गतिविधि के लिए एक व्यापक या विस्तृत शब्द है जो इंटरनेट को मैसेजिंग चैनल के रूप में उपयोग करता है.

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत ऑनलाइन विधि से मार्केटिंग किया जाता है. इस शब्द का उपयोग ऑफ़लाइन मार्केटिंग की रणनीति से इस श्रेणी को अलग करने के लिए किया जाता है. Click here to buy a course on Digital Marketing-  Digital Marketing Specialization Course

2. सोशल मीडिया मार्केटिंग
जब उत्पादों या सेवाओं की मार्केटिंग के लिए फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन आदि जैसे सोशल मीडिया का उपयोग किया जाता है तो उसे सोशल मीडिया मार्केटिंग कहा जाता है.
सोशल मीडिया मार्केटिंग का लक्ष्य दर्शकों के साथ जुड़ना और उनकी संख्या बढ़ाना है. इससे ब्रांड एवेयरनेस, वेबसाइट ट्रैफ़िक और अंततः बिक्री में वृद्धि होती है.
सोशल मीडिया मार्केटिंग की रणनीति में सामग्री प्रकाशित करना, टिप्पणियों का जवाब देना और सोशल मीडिया विज्ञापन चलाना शामिल है.
 

Traditional Marketing vs Digital Marketing, ट्रेडिशनल मार्केटिंग और डिजिटल मार्केटिंग के बीच में क्या है अंतर जाने यहाँ



3. ब्राण्ड मार्केटिंग (Brand marketing)
आधुनिक समय में ब्रांड मार्केटिंग के जरिये किसी उत्पाद या सेवा को इस तरह से बढ़ावा दिया जाता है ताकि ब्रांड को हाइलाइट किया जा सके. इस विधि से ब्राण्ड की छवि को आकार दिया जाता है. आज कल कई शैलियों में ब्रांड मार्केटिंग का अभ्यास किया जाता है.

4. इनबाउंड मार्केटिंग (Inbound marketing) 
इनबाउंड मार्केटिंग ऐसी मार्केटिंग रणनीति है जिसका उद्देश्य ग्राहकों को प्रासंगिक और उपयोगी सामग्री के साथ आकर्षित करना है. जबकि आउटबाउंड मार्केटिंग एक संदेश के साथ ग्राहक तक पहुंचने की कोशिश करता है.

5. आउटबाउंड मार्केटिंग (Outbound marketing)
आउटबाउंड मार्केटिंग इस प्रकार की मार्केटिंग को कहते हैं जिसमें एक कंपनी किसी उत्पाद के बारे में कोई संदेश कोल्ड कॉल, कोल्ड ईमेल, डायरेक्ट मेल, विज्ञापन के किसी रूप आदि के माध्यम से एक संभावित ग्राहक तक पहुंचाती है.

6. कन्टेंट मार्केटिंग (Content marketing)
कन्टेंट मार्केटिंग में ग्राहकों को आकर्षित करने और अपने साथ बनाए रखने के लिए कंटेंट बनाया और डिस्ट्रीब्यूट किया जाता है. कन्टेंट मार्केटिंग आमतौर पर इनबाउंड मार्केटिंग का हीं एक अभ्यास है.

7. ग्रोथ मार्केटिंग (Growth marketing)
ग्रोथ मार्केटिंग में ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए कंपनी के रेवेन्यू को एक्सपेरिमेंट ड्रिवेन और इंटीग्रेटेड अप्रोच के जरिये बढाया जाता है. ग्रोथ मार्केटिंग का इस्तेमाल अक्सर "पारंपरिक मार्केटिंग" के विपरीत किया जाता है.

8. सर्च इंजन मार्केटिंग (Search engine marketing)
सर्च इंजन मार्केटिंग के माध्यम से गूगल पर सर्च के माध्यम से मार्केटिंग को प्रभावित किया जाता है.

11. एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate marketing)
एफिलिएट मार्केटिंग एक प्रकार का प्रचार है जहां एक कंपनी किसी बाहरी वेबसाइट को ट्रैफिक या उसके द्वारा की गयी बिक्री के लिए कमीशन का भुगतान करती है. आप ज्यादातर ब्लॉग पर एफिलिएट लिंक्स देख सकते हैं जिनमें टैग, हॉप या कस्टमिड जैसे ट्रैकिंग पैरामीटर इस्तेमाल किए जाते हैं.

12. ऑफलाइन मार्केटिंग (Offline marketing) 
डिजिटल मार्केटिंग के विपरीत ऑफलाइन मार्केटिंग या पारंपरिक मार्केटिंग इंटरनेट के उपयोग के बिना किए जाने वाले मार्केटिंग को कहते हैं. यदि कोई विज्ञापन किसी ऑनलाइन पत्रिका के बजाय किसी पेपर पत्रिका में प्रकाशित होता है, तो वह ऑफ़लाइन मार्केटिंग कहलाता है. इसे ऐसे समझें कि यदि आप ईमेल के बजाय सीधे मेल के माध्यम से एक व्यक्तिगत संदेश देते हैं, तो वह भी ऑफ़लाइन मार्केटिंग कहलाएगा.

13. डायरेक्ट मार्केटिंग (Direct marketing)
डायरेक्ट मार्केटिंग ऐसी रणनीति है जिसमें कंपनी मास मीडिया का उपयोग करने के बजाय सीधे लक्षित दर्शकों के साथ संवाद करती है. डायरेक्ट मार्केटिंग को आमतौर पर इसकी कम लागत, संदेश को वैयक्तिकृत करने की क्षमता और संदेश पर प्रतिक्रिया देने वाले दर्शकों की संभावना के लिए चुना जाता है.

14. ईमेल मार्केटिंग (Email marketing)
ईमेल मार्केटिंग ईमेल के माध्यम से की जाने वाली मार्केटिंग को कहते हैं.

16. इवेंट मार्केटिंग (Event marketing)
इवेंट मार्केटिंग ऐसी मार्केटिंग रणनीति है जहां ब्रांडेड इवेंट्स को लक्षित दर्शकों के साथ संवाद करने और उत्पादों या सेवाओं को बढ़ावा देने के तरीके के रूप में उपयोग किया जाता है. इवेंट मार्केटिंग का उद्देश्य इवेंट में भाग लेने वालों को ब्रांड के साथ सीधे इंटरैक्ट करने के लिए प्रोत्साहित करना है.
 

मार्केटिंग की कितनी शैलियाँ होती हैं ?

मार्केटिंग शैलियाँ कुल 18 प्रकार की होती हैं. 

सोशल मीडिया मार्केटिंग किसे कहते हैं ?

जब उत्पादों या सेवाओं की मार्केटिंग के लिए फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन आदि जैसे सोशल मीडिया का उपयोग किया जाता है तो उसे सोशल मीडिया मार्केटिंग कहा जाता है.

इनबाउंड मार्केटिंग क्या होती है ?

इनबाउंड मार्केटिंग ऐसी मार्केटिंग रणनीति है जिसका उद्देश्य ग्राहकों को प्रासंगिक और उपयोगी सामग्री के साथ आकर्षित करना है.

ग्रोथ मार्केटिंग में कंपनी के रेवेन्यू को कैसे बढ़ाते हैं ?

ग्रोथ मार्केटिंग में ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए कंपनी के रेवेन्यू को एक्सपेरिमेंट ड्रिवेन और इंटीग्रेटेड अप्रोच के जरिये बढाया जाता है.

इवेंट मार्केटिंग किसे कहते हैं ?

इवेंट मार्केटिंग ऐसी मार्केटिंग रणनीति है जहां ब्रांडेड इवेंट्स को लक्षित दर्शकों के साथ संवाद करने और उत्पादों या सेवाओं को बढ़ावा देने के तरीके के रूप में उपयोग किया जाता है. इवेंट मार्केटिंग का उद्देश्य इवेंट में भाग लेने वालों को ब्रांड के साथ सीधे इंटरैक्ट करने के लिए प्रोत्साहित करना है.

Free E Books