Covid Nasal Vaccine, नेजल वैक्सीन क्या है और इसका क्या नाम है, जाने विस्तार से

Safalta Expert Published by: Chanchal Singh Updated Sun, 25 Dec 2022 12:37 AM IST

Covid Nasal Vaccine : चीन में उठे एक बार फिर से कोरोना के कहर के बीच भारत सरकार ने भी कोरोना को लेकर एक कदम सावधानी बरतनी है। केंद्र सरकार ने कोरोनावायरस से निपटाने की तैयारी शुरू कर दी है, भारत में एक बार फिर से कोरोनावायरस को बढ़ने से रोकने के लिए सरकार ध्यान दे रही है। केंद्र सरकार ने नेजल वैक्सीन को Co-Win पोर्टल में शामिल कर दिया है। ऐसे में आइए जानते हैं कि नेजल वैक्सीन क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करना है और यह कोरोना से बचने में कैसे फायदेमंद है। अगर आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं और विशेषज्ञ मार्गदर्शन की तलाश कर रहे हैंतो आप हमारे जनरल अवेयरनेस ई बुक डाउनलोड कर सकते हैं   FREE GK E-Book- Download Now.,    सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए इस ऐप से करें फ्री में प्रिपरेशन - Safalta App  वैष्णो देवी मंदिर में भीड़ के चलते लोगों की मृत्यु (Top 5 Events Of 2022)

नेजल वैक्सीन के बारे में

आपको बता दें कि नेजल वैक्सीन एक बूस्टर डोज की तरह लगाया जाएगा। भारत बायोटेक के इस नेजल वैक्सीन का नाम INCOVACC है इस वैक्सीन को भारत बायोटेक एवं अमेरिका की वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर बनाया गया है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
Something went wrong!
Download App & Start Learning

Source: safalta

यह 3 फेस के ट्रायल में असरदार साबित हुई है। यही कारण है कि कोरोनावायरस वैक्सीन के खतरे के बीच इसे अब कोविड पोर्टल में शामिल किया जाएगा।


Free Daily Current Affair Quiz-Attempt Now with an exciting prize

 कैसे किया जाएगा नेजल वेक्शन वैक्सीन का इस्तेमाल

वैक्सीन की बात होती है तो दिमाग में एक ऐसी तस्वीर बनती है कि बांह (बाजू) या फिर शरीर के किसी अन्य हिस्से में इंजेक्शन के माध्यम से लगाई जाएगी, लेकिन इनको हाथ या शरीर के अन्य हिस्सों में लगाए जाने के बजाय नाक से दिया जाएगा। अभी तक जितने भी रिसर्च हुए हैं उनमें यह बात सामने आई है कि कोरोनावायरस नाक के माध्यम से शरीर में प्रवेश करता है। ऐसे में अगर नाक में वैक्सीन को दिया जाएगा तो यह ज्यादा असरदार साबित होगा।

 अन्य वैक्सीन के मुकाबले कितना असरदार है 

नेजल वैक्सीन कोरोनावायरस भारत बायोटेक के द्वारा निर्मित इस वैक्सीन का तीन बार ट्रायल किया गया है। इस वैक्सीन की खास बात यह है कि यह तीनों ट्रायल में सफल हुई है। पहले फेस के ट्रायल में 175 एवं दूसरे फेस में 200 लोगों को शामिल किया गया था। जिसके बाद तीसरे फेज में 2 ट्रायल हुए थे पहले में 3100 और दूसरे में 875 लोगों पर अलग-अलग तरीके से इस्तेमाल किया गया था। 1 में से 2 डोज वाली वैक्सीन की तरह और दूसरे में बूस्टर डोज की तरह दिया जाता है।
 

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करेगी 

भारत बायोटेक ने वैक्सीन के ट्रायल के बाद इस बात का दावा किया है कि यह असरदार है और आपर रेस्पिरेटरी सिस्टम में कोरोना के खिलाप आपकी रोग प्रतिरोदक क्षमता को बढ़ाने में सहायता करने के लिए आप मजबूत होगी ताकि आप जल्द से जल्द कोविड से रिकवर कर सकती है। कोरोनावायरस के माध्यम से शरीर में जाती है यह वैक्सीन आपको आपके ब्लड में और आपकी नाक में प्रोटीन बनाने का काम करती है ताकि आप आसानी से वायरस से लड़ सके। इसका असर आपके बॉडी में लगभग 2 हफ्ते बाद शुरू होता है।

Free E Books