Current Affairs 23 November 2021:आईएनएस विशाखापट्टनम भारतीय नौसेना में हुआ शामिल

Safalta Experts Published by: Blog Safalta Updated Tue, 23 Nov 2021 02:08 PM IST

To Read UP SI Phase Memory Based GS Questions Compilation, CLICK HERE

 
21 नवंबर 2021 को भारतीय नौसेना में विध्वंसक युद्धपोत आईएनएस विशाखापट्टनम को शामिल कर लिया गया है। आईएनएस विशाखापत्तनम के भारतीय नौसेना ने शामिल होने से नौसेना की ताकत और बढ़ गई। यह छिपकर वार करने में सक्षम स्वदेशी निर्देशित विध्वंसक युद्धपोत है। इस युद्धपोत को भारत के मेक इन इंडिया प्रोग्राम के तहत देश में ही बनाया गया है। इसके निर्माण में 75 प्रतिशत से अधिक स्वदेशी सामग्री का प्रयोग हुआ है।

Source: pib.gov.in

यह युद्धपोत पनडुब्बियों को नष्ट करने वाले राकेटों, छोटी मध्यम दूरी की तोपों और अन्य दूसरे घातक हथियारों से लैस है। इसी युद्धपोत पर भारत की सबसे ताकतवर मिसाइल ब्रह्मोस और बराक भी लगी हुई हैं। यह युद्धपोत दुश्मन का जहाज देखते ही अपने डेक से एंटी मिसाइल को लांच कर सकता है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
यह युद्धपोत जैविक और रासायनिक हमले झेलने में सक्षम है। यह युद्धपोत एंटी शिप, ड्रोन, विमान और बैलिस्टिक मिसाइल का खात्मा करने में सक्षम है। यह देश का पहला पी15बी क्लास का स्टेल्थ गाइडेड मिसाइल विध्वंसक है । यह युद्धपोत लगभग 163 मीटर लंबा और  17 मीटर चौड़ा है। यह युद्धपोत 7400 वजन ले जाने में सक्षम है। इस युद्धपोत में 4 गैस टरबाइन इंजन लगाया गये हैं। इसकी अधिकतम गति 56 किमी प्रति घंटा  है।

महत्वपूर्ण तथ्य
  • आईएनएस विशाखापट्टनम भारतीय नौसेना के विशाखापट्टनम श्रेणी का प्रमुख और पहला युद्धपोत है।
  • वर्ष 2011 में तत्कालीन सरकार द्वारा इसके निर्माण को मंजूरी दी गई थी।
  • वर्ष 2015 में इसका निर्माण कार्य प्रारंभ किया गया था।
  • 21 नवंबर 2021 को इसका  जलावतरण किया गया है।
  • इसका निर्माण मुंबई स्थित मझगांव डॉकयार्ड शिपबिल्डर्स  में किया गया है।
  • इसके निर्माण की लागत लगभग 9000 करोड़ आई है।
  • इसी प्रोजेक्ट के तहत तीन अन्य युद्धपोत आईएनएस मोरमुगाओ, आईएनएस इम्फाल और आईएनएस सूरत का निर्माण कार्य चल रहा है।
  • भारतीय नौसेना की स्थापना 26 जनवरी 1950 को की गई थी।
  • इसका मुख्यालय रक्षा मंत्रालय स्थित नई दिल्ली में है।
  • भारतीय नौसेना के कमांडर इन चीफ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद हैं।
  • भारतीय नौसेना के चीफ आफ नेवेल स्टाफ एडमिरल कर्मवीर सिंह  हैं।
  • 4 दिसंबर को प्रतिवर्ष भारतीय नौसेना दिवस मनाया जाता है।

Free E Books