मौर्य साम्राज्य का इतिहास एंव मुख्य शासक Mauryan Empire

Safalta Experts Published by: Blog Safalta Updated Thu, 02 Sep 2021 11:48 AM IST

मौर्य साम्राज्य का इतिहास एंव मुख्य शासक

चन्द्रगुप्त मौर्य

  • चन्द्रगुप्त मौर्य (322-298 ई.पूर्व) ने गुरु चाणक्य की सहायता से नन्दशासक 'घनानन्द' का वध करके मौर्य साम्राज्य की स्थापना की थी।
  • नंद वंश के विनाश करने में चंद्रगुप्त मौर्य ने कश्मीर के राजा पर्वतक से सहायता प्रप्त की थी।
  • चंद्रगुप्त मौर्य को मुद्राराक्षस में वृषल तथा कुलहीन  कहां गया था।
  • चंद्रगुप्त मौर्य के अन्या नाम सैण्ड्रोकोट्स, पालीब्रोथम, एण्ड्रोकोट्स, विशाल आदि थे।
  • बौध्द साहित्य महावंश तथा अर्थशास्त्र में चंद्रगुप्त मौर्य को क्षत्रिय कहा गया है।
  • चंद्रगुप्त के प्रकाशन का प्राचीन अभिलेखीय साक्ष्य रुद्रदामन के जूनागड़ अभिलेख से मिलती है।
  •  भारतीय साम्राज्य का पहला ऐतिहासिक संस्थान चंद्रगुप्त मौर्य को मन जाता है।
  • सेल्यूकस का राजदूत चुंबक मेगास्थनीज चंद्रगुप्त के दरबार में आया, जैसने इंडिका नमक पुस्तक लिखी।
  • मेगास्थनीज ने पाटलिपुत्र को पालिब्रोथा कहां है।
  • सेल्यूकस निकेटर ने अपनी पुत्री कार्नेलिया की शादी चंद्रगुप्त मौर्य के साथ कर दी और चार प्रान्त काबुल, कंधार, हेरात एंव मकरान, चंद्रगुप्त को दिया।
इतिहास की संपूर्ण तैयारी के लिए आप हमारे फ्री ई-बुक्स डाउनलोड कर सकते हैं


बिन्दुसार

  • चंद्रगुप्त मौर्य तथा माता. 'दुर्धरा' का पुत्र बिन्दुसार (298ई.) मगध की राजगद्दी पर बैठा।
  • बिन्दुसार के अन्य नाम हैः अमित्रघात , अमित्रोकेडीज (यूनानी द्वारा), नन्दसार, भद्रसार (वायुपुराण), बिन्दुसार (परिशिष्टपर्वन) तथा बिन्दुपाल (चीनी ग्रन्थ)।
  • सुभद्रांगी  बिन्दुसार की मुख्य पत्नी थी।
  • बिन्दुसार के शसनकाल में तक्षशिला में दो बार विद्रोह हुआ। पहली बार अशोक ने विद्रोह का दमन किया एक दसरी बार सुसीम ने।
  • बिन्दुसार आजीवन संप्रदाय का अनुयायी था।
  • जैन ग्रंथ में बिन्दुसार को सिंहसेन कहा गया है।
  • दिव्यावदान के अनुसार बिन्दुसार की मंत्रीपरिषद में 500 मंत्री थे। 
  • ऐथेनियस  के अनुसार बिन्दुसार ने सीरिया के शशक एण्टियोकस प्रथम से मदीरा, सुखे, अंजीर एंव एक दार्शनिक भेजने की प्रार्थना की थी लेकिन सीरियाई शासक ने दार्शनिक नहीं भेजा।
  • बौध्द विद्वान तारानाथ में बिन्दुसार को 16 राज्यों का विजेता बताया है।
Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करें
General Knowledge Ebook Free PDF: डाउनलोड करें
 

अशोक

  • बिन्दुसार का उत्तराधिकारी अशोक महान हुआ जो (269ई.पूर्व) में मगध की राजगद्दी पर बैठा।
  • अशोक की माता का नाम सुभद्रांगी था। 
  • राजगद्दी पर बैठने के समय अशोक अवन्ती का राज्यपाल था।
  • अशोक ने 99 भाइयों की हत्या करके सिंहासन प्रप्त किया (सिंहली स्त्रोत)।
  • बिंदुसर के 101 पुत्र में  सुअम (सुसीम) सबसे बड़ा (अशोक) दुसरा और (तिष्य)सबसे छोटा (बौध्द ग्रथ)।
  • कारुवाकि तिस्सरक्खा अशोक की दो महारानियाँ थी
  • अशोक की पत्नी महादेवी (शाक्यकुलीन विदिशा की राजकुमारी) से महेंद्र और संघमित्रा नमक 2 संतान हुई।
  • अशोक ने बौद्ध धर्म के प्रचार के लिए अपने पुत्र महेंद्र  एंव पुत्री संघमित्रा को श्रीलंका भेजा।
  • संघमित्रा और चारुमती अशोक की दो पुत्रियाँ थी।

Free E Books