Clean Andhra Pradesh :आंध्र प्रदेश ने CLAP अभियान लॉन्च किया

safalta experts Published by: Chanchal Singh Updated Fri, 04 Feb 2022 05:10 PM IST

Highlights

1.आंध्र प्रदेश सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों की सफाई, स्वच्छता की स्थिति में सुधार और सार्वजनिक भागीदारी के साथ अपशिष्ट प्रबंधन के लिए CLAP कार्यक्रम शुरू किया है।
2.इस अभियान के तहत, गांव के लोगों को सलाह दी जाती है कि वे सड़कों पर कचरा न फेकें और इसके बजाय कचरा जिला कलेक्टर को सौंप दें।
3.आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी ने यह अभियान शुरू करने के लिए 4,097 कचरा इकट्ठा करने वाले वाहनों को हरी झंडी दिखाई थी।
 

Clean Andhra Pradesh: आंध्र प्रदेश सरकार ने 2 अक्टूबर, 2021 को “स्वच्छ आंध्र प्रदेश (CLAP) – जगन्ना स्वच्छ संकल्प कार्यक्रम” (Clean Andhra Pradesh (CLAP)- Jagananna Swachha Sankalpam Programme) शुरू किया है। इसे आंध्र प्रदेश सरकार ने आंध्रप्रदेश के गांवों को स्वच्छ बनाने के लिए शुरू किया है। इस अभियान के तहत प्रदेश के सभी गांवों को कचरा मुक्त बनाने के लिए प्रारंभ किया जा रहा है।

CLAP से जुड़ी मुख्य बातें


1.आंध्र प्रदेश सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों की सफाई, स्वच्छता की स्थिति में सुधार और सार्वजनिक भागीदारी के साथ अपशिष्ट प्रबंधन के लिए CLAP कार्यक्रम शुरू किया है।
2.इस अभियान के तहत, गांव के लोगों को सलाह दी जाती है कि वे सड़कों पर कचरा न फेकें और इसके बजाय कचरा जिला कलेक्टर को सौंप दें।
3.आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी ने यह अभियान शुरू करने के लिए 4,097 कचरा इकट्ठा करने वाले वाहनों को हरी झंडी दिखाई थी।
Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करे

आंध्र प्रदेश ग्रामीण स्वच्छता अभियान  कितना सफल है 
1. नवंबर 2021 तक, ग्रामीण घरों से कचरा संग्रहण 22% था। 
2. जनवरी 2022 तक यह 61.50% पर पहुंच गया था
इसके अलावा कई ग्राम पंचायत अधिकारी पहले से ही कचरा मुक्त गांव और सड़कों की तस्वीरें साझा कर रहे हैं। प्रदेश सरकार का कहना है कि, ग्राम पंचायत CLAP कार्यक्रम के तहत सभी लक्ष्यों को प्राप्त करेगी, जिसमें 100% ग्रामीण घरेलू कचरा संग्रहण शामिल है।

CLAP के उद्देश्य क्या है?
घर-घर जाकर कचरे के संग्रह के अलावा तरल और ठोस कचरे को अलग करने, घर में खाद बनाने और onsite waste treatment 
को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से CLAP अभियान शुरू किया गया है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
Something went wrong!
Download App & Start Learning

Source: Safalta

साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों को खुले में शौच से मुक्त करने का भी प्रयास किया जायेगा।

खुले में शौच मुक्त (Open Defecation Free – ODF) अभियान क्या है?
13,000 से अधिक सरपंचों को खुले में शौच मुक्त (ODF) अभियान का सख्ती से नेतृत्व करने के साथ-साथ यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है कि उनके गांव खुले में शौच से मुक्त हों। यह 2022 के अंत तक  ODF+ का दर्जा हासिल करना चाहता है। आंध्र प्रदेश सरकार चाहती है कि राज्य साल 2022 के अंत तक कचरा मुक्त हो जाए।

ODF प्लस गांव क्या है?
एक गांव जो अपनी ODF स्थिति को बनाए रखता है और  solid and liquid waste management को सुनिश्चित करता है। जो कि किसी जगह को  दिखने में साफ़ लगता है उसे “ओडीएफ प्लस गांव” कहा जाता है।

स्वच्छता अभियान कौन चलाएगा?
CLAP अभियान के लॉन्च से पहले, लगभग 13,000 सरपंचों और 1,200 जिला और मंडल अधिकारियों ने UNICEF WASH (Water, Sanitation and Hygiene) द्वारा आयोजित स्वच्छता अभियान पर एक ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लिया। सरकार ने यह अभियान चलाने के लिए
 1.ग्राम पंचायत कार्यकर्ताओं और अधिकारियों
 2.ग्राम और वार्ड सचिवालयों के सदस्यों 
3.स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं
4. जिला और मंडल परिषद क्षेत्रीय निर्वाचन क्षेत्रों के सदस्यों को इस कार्यक्रम के लिए तैनात किया है।
General Knowledge Ebook Free PDF: डाउनलोड करें 

Free E Books