ओमिक्रॉन वेरिएंट का पता लगाने वाली मेड-इन-इंडिया टेस्टिंग किट को मंजूरी मिली

Safalta Experts Published by: Abhivardhan Bajpayee Updated Thu, 06 Jan 2022 10:54 PM IST

भारतीय औषधि महानियंत्रक ( DCGI ) ने हाल ही में SARS-CoV-2 कोरोनावायरस के Omicron वेरियंट का पता लगाने के लिए OmiSure नामक एक परीक्षण किट को मंजूरी दे दी है। इस किट का निर्माण टाटा मेडिकल एंड डायग्नोस्टिक्स( TataMD ) ने भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ( ICMR ) के साथ मिलकर साझेदारी में किया है। वर्तमान में जीनोम अनुक्रमण के बाद ही ओमाइक्रोन रोगियों का पता लगाया जाता है जो एक समय लेने वाली प्रक्रिया है। गौरतलब है कि इस किट का टेस्ट रन टाइम 85 मिनट है और नमूना संग्रह और आरएनए निष्कर्षण सहित परिणाम का टर्नअराउंड समय 130 मिनट है। ऐसा बताया जा रहा है कि यह परीक्षण किट सभी मानक रीयल-टाइम पीसीआर मशीनों के अनुकूल है।

Source: सोशल मीडिया

TATA ने Omisure टेस्ट किट की कीमत 250 रुपये प्रति टेस्ट तय की है।

जानिए कोरोना वायरस के नए वेरिएंट 'IHU' के बारे में

इसके पहले पिछले वर्ष TataMD ने 'फेलुदा' कोविद टेस्ट किट को बाजार में उतारा था | इसका बाजारी नाम TataMD CHECK है और यह किट CRISPR Cas-9 तकनीक द्वारा संचालित है |

Yearly Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करे
 
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा कोरोना वायरस के ओमाइक्रोन वेरिएंट को 'चिंता के वेरिएंट' के रूप में वर्गीकृत किया गया है।
  • DCGI- भारतीय औषधि महानियंत्रक ( Drug Controller General of India )
  • ICMR- भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ( Indian Council of Medical Research )
  • CRISPR Cas-9 एक जीनोम एडिटिंग तकनीक है जिसमे द्वारा अनुवांशिक जीनो को जोड़ ,हटा या बदल सकते हैं |

Free E Books