Pokhran-II: जाने क्या ऑपरेशन शक्ति - पोखरण-द्वितीय, और आज के दिन इसका क्या महत्व है।

safalta experts Published by: Chanchal Singh Updated Wed, 11 May 2022 03:54 PM IST

Highlights

इस साल का विषय "सतत भविष्य के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी में एकीकृत दृष्टिकोण" ("Integrated Approaches in Science and Technology for a Sustainable Future") है। थीम का शुभारंभ केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने किया।

 

Pokhran-II: राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस हर साल 11 मई को पूरे देश में मनाया जाता है। यह दिन विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में इंजीनियरों और वैज्ञानिकों indigenous technology की उपलब्धियों का स्मरण कराता है। चल रहे महामारी के समय के दौरान, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस  एक विशेष महत्व रखता है। जैसा कि हम सभी को पता है कि विज्ञान और टेक्नोलॉजी ने मानव जीवन को कितना सरल और सहज कर दिया है इसके साथ ही यह मानव स्वास्थ्य के लिए एक वरदान के रूप में उभरा है जो किसी भी प्रकार की बीमारी के जांच से लेकर उसके उपचार तक का समाधान करती है।  अगर आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं और विशेषज्ञ मार्गदर्शन की तलाश कर रहे हैं, तो आप हमारे जनरल अवेयरनेस ई बुक डाउनलोड कर सकते हैं  FREE GK EBook- Download Now.

Source: Safalta

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email

 

ऑपरेशन शक्ति (पोखरण-द्वितीय)  क्या है


ऑपरेशन शक्ति (पोखरण-द्वितीय) 11 मई, 1998 को शुरू किया गया था। हर साल, इस दिन, भारतीय प्रौद्योगिकी विकास बोर्ड (Technology Development Board of India) उन सभी लोगों को indigenous technology  में उनके योगदान और कार्य समर्थन के लिए राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित करता है। इस सम्मान के साथ साथ आज के दिन यह बताया जाता है कि विज्ञान और टेक्नोलॉजी मानव जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण हैऔर विज्ञान को करियर के क्षेत्र के रूप में अपनाने के लिए प्रेरित करता है।

 परीक्षण पोखरण II था जो मई 1998 में भारतीय सेना के पोखरण टेस्ट रेंज में भारत द्वारा प्रशासित परमाणु बम विस्फोटों के पांच परीक्षणों की एक सीरीज थी। इस पोखरण II या ऑपरेशन शक्ति  टेस्ट में पांच विस्फोट शामिल थे, जिनमें से पहला एक फ्यूजन बम था जबकि अन्य चार फ्रेगमेंटेशन बम थे।

Free Daily Current Affair Quiz-Attempt Now with exciting prize

पोखरण-टेस्ट-इंडिया


संस्कृत में शक्ति शब्द का अर्थ है शक्ति। 11 मई, 1998 को दो फ्रेगमेंटेशन और एक फ्यूजन बम के विस्फोट के साथ ऑपरेशन शक्ति या पोखरण II को शुरू किया गया था।

13 मई, 1998 को दो एडिशनल फ्रेगमेंटेशन बमों में विस्फोट किया गया था और उस समय भारत में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार चल रही थी, तत्कालीन प्रधान मंत्री ने जल्द ही भारत को एक पूर्ण परमाणु राज्य घोषित करने के लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी।

Monthly Current Affairs May 2022 Hindi

ऑपरेशन का मूल नाम 'ऑपरेशन शक्ति-98' था और पांच परमाणु उपकरणों को शक्ति I से शक्ति V (Power I to Power V to five nuclear devices) के रूप में विभाजित किया गया था। और अब, इस पूरे ऑपरेशन को पोखरण II के रूप में जाना जाता है और पोखरण I 1974 में किया गया विस्फोट था।


राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस 2022: थीम
इस साल राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस 2022 का थीम "सतत भविष्य के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी में एकीकृत दृष्टिकोण" ("Integrated Approaches in Science and Technology for a Sustainable Future")  रखा गया है। इसके साथ ही इसल थीम का शुभारंभ केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने किया है ।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए इन फ्री बुक्स को डाउनलोड करें
Hindi Vyakaran E-Book-Download Now
Polity E-Book-Download Now
Sports E-book-Download Now
Science E-book-Download Now

Free E Books