Russia Ukraine Tension : क्या रूस करेगा यूक्रेन पर परमाणू हमला

safalta experts Published by: Chanchal Singh Updated Sat, 26 Feb 2022 04:30 PM IST

Highlights

1.रूस विश्व में दूसरी ताकतवर देश है।
2.यूक्रेन और रूस के बीच अगर हालात जल्द ही नहीं सुधरते हैं तो रूस परमाणू का प्रयोग कर सकता है।
3.फिलहाल कोई भी देश रूस के इस युद्ध के फैसले का समर्थन नही किया है, सभी ने रूस को यह सलाह दिया है कि बातचीत करके मामले को सुधार ले।

Russia Ukraine Tension :आज तक के  विश्व इतिहास में कभी ऐसा नहीं हुआ है कि कोई भी राष्ट्र किसी देश को परमाणु हमले की खुलेआम धमकी दी हो, लेकिन यूक्रेन पर हमला करने के बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने बयान में अपने हथियारों को लेकर दुनिया को धमकाया है। न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक यूक्रेन पर हमले से पहले पुतिन द्वारा दिए गए अपने भाषण में उन्होंने दुनिया के तमाम देशों को धमकी दी है कि यदि उन्होंने रूस के किसी भी मामले में दखल देने का प्रयास किया तो फिर उनके पास बहुत सी ताकतवर हथियार भी हैं। भले ही पुतिन अपनी इस धमकी पर अमल न करें, लेकिन यह दुनिया को डराने वाला जरूर है। इस बयान के बाद से पुतिन के इरादों से साफ नजर आ रहे हैं कि यूक्रेन के तरफ से किसी भी एक चूक के चलते यूक्रेन और रूस के बीच चल रहा युद्ध परमाणु जंग में बदल सकता है।  Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करे
 

रूस की परमाणू ताकत कैसी है


रूस 'सैन्य मामलों की बात करें तो सोवियत संघ के  विघटन और अपनी ताकत के काफी कम होने के बावजूद भी आज रूस दुनिया की सबसे बड़ी परमाणु ताकतवर देशों में से एक है।' ग्लोबलफायर के रिपोर्ट के मुताबिक 'रूस के पास बड़े पैमाने पर हथियार और सैन्यबल हैं, सुरक्षा मामले में रूस दुनिया में अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर है । ऐसे में किसी भी राष्ट्र को इस बात का संदेह नहीं रखना चाहिए कि वे रूस और यूक्रेन के बीच दखल देंगे और उनकी जीत होगी। रूस का कहना है कि अगर कोई भी हमारे देश पर हमला करता है तो फिर उसे परिणाम भुगतने होंगे।' पुतिन के इस बयान से यह स्पष्ट है कि यूक्रेन पर चल रही जंग कभी भी परमाणु युद्ध में बदल सकती है। 


रूस के राष्ट्रपति ने क्या बयान दिया है। 


इस धमकीभरे बयान के बाद से दुनिया भर में कोल्ड वॉर के हालात बन गए हैं। हाल ही में रूस के राष्ट्रपति ने यूक्रेन को चेतावनी दिया था कि अगर पूर्वी हिस्से में उसने युद्ध नहीं रोका तो भविष्य में होने वाले ख़ूनखराबे  और जनहानि के लिए वो स्वयं ही ज़िम्मेदार होगा। विशेषज्ञों का इस युद्ध को लेकर यह भी मानना है कि 2014 में रूस के समर्थक माने जाने वाले यूक्रेन के तत्कालीन राष्ट्रपति के जब पद से पदस्थ होना पड़ा था,  इसके बाद रूस ने यूक्रेन पर हमला किया था।


इस लेख के करेंट अफेयर से जुड़ें महत्वपुर्ण बिंदु


1.रूस विश्व में दूसरी ताकतवर देश है।
2.यूक्रेन और रूस के बीच अगर हालात जल्द ही नहीं सुधरते हैं तो रूस परमाणू का प्रयोग कर सकता है।
3.फिलहाल कोई भी देश रूस के इस युद्ध के फैसले का समर्थन नही किया है, सभी ने रूस को यह सलाह दिया है कि बातचीत करके मामले को सुधार ले।
4. सबसे पहले अमेरिका ने जापन के उपर परमाणू बम का प्रयोग किया था।
General awareness Ebook Free PDF: डाउनलोड करें 

Free E Books