user image

Meera Singh

UP Board 10th Class 2021 (For Hindi Medium Students)
About UP Board Crash Course
2 years ago

physics

user image

SUNDARAM SINGH

2 years ago

user image

SUNDARAM SINGH

2 years ago

चोक कुण्डली की रचना तथा कार्यविधि: यह एक ऐसी युक्ति होती है स्वप्रेरकत्व L बहुत अधिक होता है तथा प्रतिरोध R अत्यधिक अल्प होता है। ... हमें जितना ज्यादा प्रेरकत्व चाहिए हम क्रोड़ को कुण्डली में उतना ही अधिक अंतर प्रविष्ट करवाते है , और इसी के द्वारा प्रत्यावर्ती धारा परिपथ के अंतर धारा को नियंत्रित किया जाता है।

Recent Doubts

Close [x]