CBSE जल्द ही 12वीं के छात्रों के लिए मूल्यांकन नियमों की कर सकती है घोषणा, 12वीं के छात्रों को ऐसे मिल रहे नंबर

Safalta Expert Published by: Saloni Bhatia Updated Fri, 04 Jun 2021 10:13 PM IST

Highlights

गौरतलब है कि CBSE ने पिछले महीने दसवीं कक्षा की परीक्षाओं को रद्द करने के बाद छात्रों के मूल्यांकन के लिए 17 पेज का सर्कुलर जारी किया था।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने बारहवीं की परीक्षाएं रद्द होने के बाद छात्रों को मार्क्स देने के फार्मूले पर काम शुरू कर दिया है। बारहवीं की छात्रों को मार्क्स देने का फॉर्मूला CBSE दसवीं के फॉर्मूले के तहत ही निकाल सकती है। गौरतलब है कि CBSE ने पिछले महीने दसवीं कक्षा की परीक्षाओं को रद्द करने के बाद छात्रों के मूल्यांकन के लिए 17 पेज का सर्कुलर जारी किया था।

2021 में CBSE बोर्ड के दसवीं क्लास के विद्यार्थियों के लिए मूल्यांकन नीति :
●दसवीं क्लास के छात्रों को अंक देने के दौरान बोर्ड ने बड़ी सतर्कता के साथ उदार नजरिया अपनाया था। नीति के मुताबिक दसवीं कक्षा के छात्रों का मूल्यांकन दो आधार पर होगा।  पिछले टेस्ट्स और कक्षाओं में छात्र की उपलब्धि तथा उनका ओवरऑल एकेडमिक प्रदर्शन।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
Something went wrong!
Download App & Start Learning

Source: Amar Ujala

साथ ही पिछले बोर्ड परीक्षाओं में छात्रों के प्रदर्शन को भी मूल्यांकन के समय देखा जाएगा।

● CBSE द्वारा निकाले गए सर्कुलर के मुताबिक स्कूल , प्राचार्यों और शिक्षकों के साथ एक कमिटी बनाकर छात्रों को मार्क्स देंगे।

●इस नीति के मुताबिक छात्रो को इंटरनल असेसमेंट के मार्क्स पहले के ही तरह मिलेंगे। इसके अतिरिक्त पीरियोडिक टेस्ट (Periodic Test) ,अर्ध-वार्षिक परीक्षा और प्री-बोर्ड परीक्षा को मूल्यांकन में अधिक महत्व दिया जाएगा।

●स्कूलों को उनके पिछले तीन वर्षों में अपने प्रदर्शन की जांच करने और उस वर्ष का चयन करने के लिए कहा गया है जिसमें उन्होंने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। शुरुआती बिंदु के रूप में इस वर्ष का उपयोग किया जाएगा। 

●खास मुद्दों से निपटने के लिए CBSE द्वारा विभिन्न स्कूलों को थोड़ी छूट दी गई है।  हालांकि स्कूलों से सभी चीजों का रिकॉर्ड रखने को कहा गया है। मूल्यांकन में प्रक्रियाओं का पालन हुआ है या नहीं यह देखने के लिए CBSE उन रिकार्ड्स की जांच करेगी।

●एक अन्य लोकप्रिय तरीका यह है कि छात्रो को उनके पिछली कक्षाओं जैसे कि नौवीं कक्षा में प्रदर्शन के आधार पर ग्रेड प्रदान किया जाए।

इस मुद्दे पर बात करते हुए एक अधिकारी ने कहा कि दसवीं तथा बारहवीं दोनों परीक्षाओं का अलग अलग महत्व है। कक्षा 10 की परीक्षाएँ आम तौर पर छात्रों को अपना प्रमुख विषय चुनने की अनुमति देती हैं तो वहीं बारहवीं की परीक्षाओं का उपयोग यह निर्धारित करने के लिए किया जाता है कि छात्रों को उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश दिया जाएगा या नहीं। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि किसी भी छात्र के साथ भेदभाव नहीं हो। इन सभी बातों की एक पैनल द्वारा जांच की जाएगी और इस प्रक्रिया में अभी कुछ समय लगेगा।

www.safalta.com के साथ करिए करियर प्लान
अगर आप भी 12वीं के बाद कोई सरकारी नौकरी करना चाहते हैं तो डिफेंस, रेलवे, एसएससी, नीट जैसे तमाम विकल्प अपना सकते हैं। www.safalta.com एसएससी और एयरफोर्स समेत कई प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराता है। आप इसके द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न कोर्सेस को ज्वॉइन कर सकते हैं। इसके लिए बस आपको गूगल प्ले स्टोर पर जाना होगा। आप इस लिंक  http://bit.ly/SAFALTA-APP  पर क्लिक कर अपने फोन में सफलता ऐप डाउनलोड कर सकते हैं और फिर वहां से आप अपनी परीक्षा की तैयारी के लिए किसी भी कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

Read More:
CBSE Class 12th की 12वीं की परीक्षा हो चुकी है रद्द , बेहतर करियर के लिए ये विकल्प अपना सकते हैं छात्र
 
 

Free E Books