द्रव्य का वर्गीकरण (Chemistry Science Classification Of Matter)

Safalta Experts Published by: Anonymous User Updated Wed, 01 Sep 2021 01:46 PM IST

द्रव्य का वर्गीकरण (Classification Of Matter)
 
1) भौतिक वर्गीकरण (Physical classification)
- द्रव्य की भौतिक या बाहृा संरचना के आधार पर इसे तीन भागों में बाँटा गया है- ठोस , द्रव और गैस।

2) प्लाज्मा (Plasma) - को द्रव्य की चौथी अवस्था माना गया है।

3) ठोस ( Solid) - यह एक कठोर पदार्थ होता है, जिसका एक निश्चित द्रव्यमान तथा निश्चित आयतन होता है, जो सदैव समान रहता है।

4) क्रिस्टलीय ठोस (Crystaline Solid) - लगभग सभी ठोस क्रिस्टलीय होते हैं । अर्थात इनकी एक निश्चित ज्यामितीय आकृति होती है।

5) कुछ ठोस ऐसे होते हैं जिनकी कोई आकृति नहीं होती है, जैसे - स्टार्च ऐसे ठोसों को अक्रिस्टलीय (Amorphous) ठोस कहते हैं।

6) यौगिक - जो द्रव्य दो या दो से अधिक तत्त्वों के निश्चित अनुपात में परस्पर क्रिया के संयोग से बनते हैं एवं जो साधारण विधि से पुनः तत्तवों में विभाजित नहीं कियें जा सकते हैं , यौगिक कहलाते हैं जैसे - पानी , नमक ,चीनी , इत्यादि। किसी यौगिक के गुण उसके संघटक तत्त्वों के गुण से भिन्न होते हैं।

7) मिश्रण - दो या दो से अधिक तत्त्वों अथवा यौगिकों को किसी भी अनुपात में मिलाने से जो द्रव्य प्राप्त होता है, उसे मिश्रण कहते हैं। मिश्रण में उपस्थित विभिन्न घटकों के गुण बदलते नहीं हैं, उदाहरणार्थ - दूध,बालू ,चीनी , बारूद ,मिटटी आदि का मिश्रण।

8) द्रव्य का गतिक सिध्दान्त (Kinetic Theory of Matter) - सभी द्रव्य छोटे -छोटे कणों से मिलकर बने होते हैं जिन्हें अणु कहते हैं। अणुओं के बीच में खाली जगह होती है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
Something went wrong!
Download App & Start Learning

Source: The Royal Society Of Chemistry

ठोस पदार्थ  में यह जगह काफी कम होती है। इसलिए ठोस पदार्थों में अणुओं के बीच का अकर्षण बल अधिकतम होता है। इसलिए ये पदार्थ नियमित आकार के होते हैं।

9) द्रवों में खाली जगह कुछ अधिक होती है और आकर्षण बल कुछ कम काम करता है। इसलिए द्रव्य जिस बर्तन में रखे होते हैं , उसी का आकार ग्रहण कर लेते हैं। 

10) गैसों में अणुओं के बीच की दूरी बहुत अधिक होती है एवं आकर्षण बल नगण्य होता है। इसलिए गैसों में अणु सभी दिशाओं में अनियमित रूप से गति करते रहते हैं। 

11) विलयन (Solution) - दो या दो से अधिक शुद्ध पदार्थों के समांग मिश्रण को विलयन कहते हैं.

12) तत्त्व (Elements) - समान प्रकार (समान परमाणु क्रमांक ) के परमाणुओं से बने हुए शुद्ध पदार्थ को तत्त्व कहते हैं ।
उदाहरणार्थ - H,N,O,S,Na,Cu,Hg आदि तत्त्व हैं।

13) तत्त्वों के परमाणु प्रोटाॅन, इलेक्ट्रान और न्यूटाॅन से बने होते हैं।

14) सर्वप्रथम कृत्रिम रूप से बनाया गया तत्त्व टेक्नेटियम (Tc) था , जिसे बर्कले (Berkley) ने कैलीफोर्निया विश्वविधालय में बनाया था।

रसायन विज्ञान की संपूर्ण तैयारी के लिए आप हमारे फ्री ई-बुक्स डाउनलोड कर सकते हैं।

 

Free E Books