IIT में पहली बार होंगी कोटा बेस्ड फैकल्टी टीचर्स की भर्तियां, लेकिन केंद्र सरकार का ये नियम बना परेशानी का सबब

Safalta Experts Published by: Nikesh Kumar Updated Sat, 20 Nov 2021 04:41 PM IST

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) में पहली बार फैकल्टी टीचर्स की कोटा आधारित भर्तियां होने वाली हैं। केंद्र सरकार की तरफ से जारी आदेश के बाद इस संबंध में संस्थानों ने भी आगे की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस संबंध में IIT की विभिन्न शाखाओं की तरफ से विज्ञापन भी जारी कर दिए गए हैं। आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने 4 सितंबर 2022 तक नियमों का पालन करने और खासतौर से अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों के साथ इस भर्ती को पूरा करने के आदेश दिए हैं। यदि आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं और विशेषज्ञ मार्गदर्शन की तलाश कर रहे हैं, तो आप हमारे करंट अफेयर्स को सब्सक्राइब करे FREE Current Affairs Ebook- Download Now
Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करें General Knowledge Ebook Free PDF: डाउनलोड करें
 
शिक्षण संस्थानों में आरक्षण पर दिया जा रहा विशेष ध्यान
 
इससे पहले इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के पास इन पदों पर भर्तियों के लिए अधिकार थे। गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्रालय की तरफ से जारी आदेश में भर्ती के लिए समय-सीमा भी तय की गई है, जो इन आईआईटी संस्थानों के लिए परेशानी का सबब बन गई है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
Something went wrong!
Download App & Start Learning

Source: social media

दरअसल, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एक साल तक चलने वाली भर्ती प्रक्रिया का पालन करता है। वहीं, इससे पहले सरकार की तरफ से इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ने इस संबंध में समय-सीमा तय नहीं की थी। साल 2019 से ही शिक्षा मंत्रालय केंद्र सरकार से आर्थिक मदद हासिल करने वाले शिक्षण संस्थानों में आरक्षण पर विशेष ध्यान देने की बात कह रहा है।
 
Ph.D की डिग्री होना अनिवार्य
 
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में फैकल्टी टीचर बनने के लिए, किसी उम्मीदवार के पास Ph.D की डिग्री होना अनिवार्य है। ये आईआईटी फैकल्टी टीचर बनने के लिए सबसे न्यूनतम मापदंड है। दरअसल, इंजीनियरिंग डॉक्टोरल उम्मीदवारों की कमी के चलते केंद्र सरकार द्वारा तय की गई ये समय-सीमा आईआईटी संस्थानों की मुश्किलें बढ़ा रही हैं। अमूमन, एक वर्ष में मेट्रो शहरों में स्थित आईआईटी 35 फैकल्टी टीचर्स की भर्ती करते हैं। आईआईटी के एक निदेशक के मुताबिक, ‘सैकड़ों रिक्त पद भरना असंभव होगा।' इधर, कुछ संस्थानों ने पदों के लिए विज्ञापन जारी कर दिए हैं। वहीं, कुछ संस्थानों ने रिक्त पदों वाले विभागों की सूची जारी की है।

फ्री मॉक टेस्ट का प्रयास करें- Click Here
 
भर्तियों में पिछड़ी पृष्ठभूमि की महिला आवेदकों को किया जा रहा है प्रोत्साहित
 
उल्लेखनीय है कि केंद्रीय शिक्षण संस्थानों में आरक्षण लागू करने के संबंध में सुझाव देने के मकसद से जून 2020 में एक समिति बनाई गई थी, इस समिति ने तब कहा था कि आईआईटी संस्थानों का राष्ट्रीय महत्व है और इन्हें भी आरक्षण से छूट मिलनी चाहिए। इसके बाद आरक्षण का मुद्दा प्रत्येक आईआईटी बोर्ड पर ही छोड़ा गया था। साथ ही यह भी कहा गया था कि अगर भर्तियों में कोटा लागू होगा, तो प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर को इससे बाहर रखा जाएगा। फिलहाल, भर्तियों में पिछड़ी पृष्ठभूमि से आने वाली महिलाओं को आवेदन के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। 
 
BOB IT SO Recruitment 2021 UP NHM Recruitment 2021
BSF Group C Recruitment 2021 UPPBPB UP Police Recruitment

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें

प्रतियोगी परीक्षाओं की बेहतर तैयारी के लिए उम्मीदवार सफलता के फ्री कोर्स की सहायता भी ले सकते हैं। सफलता द्वारा इच्छुक उम्मीदवार परीक्षाओं जैसें- SSC GD, UP लेखपाल, NDA & NA, SSC MTS आदि परीक्षाओं की तैयारी कर सकते हैं। इसके साथ ही इच्छुक उम्मीदवार सफलता ऐप से जुड़कर मॉक-टेस्ट्स, ई-बुक्स और करेंट-अफेयर्स जैसी सुविधाओं का लाभ मुफ्त में ले सकते हैं।
 

Free E Books