How Vice President is elected in India : जानिये कैसे होता है भारत में उपराष्ट्रपति का चुनाव

Safalta Experts Published by: Kanchan Pathak Updated Sat, 02 Jul 2022 10:55 PM IST

Highlights

वैसे तो भारत के उपराष्ट्रपति का चुनाव काफी कुछ राष्ट्रपति चुनाव के तर्ज पर ही होता है, परंतु इस चुनाव में राज्यो के विधान सभाओं के सदस्य भाग नही लेते हैं. आइए जानते हैं कि कैसे होता है भारत में उपराष्ट्रपति पद के लिए चुनाव ?

देश के अगले उपराष्ट्रपति के चुनाव के लिए तैयारियाँ शुरू हो चुकी हैं. चुनाव आयोग ने बुधवार को बताया कि देश में आगामी उपराष्ट्रपति पद के लिए चुनाव 6 अगस्त को हो सकते हैं. वैसे तो भारत के उपराष्ट्रपति का चुनाव काफी कुछ राष्ट्रपति चुनाव के तर्ज पर ही होता है, परंतु इस चुनाव में राज्यो के विधान सभाओं के सदस्य भाग नही लेते हैं. आइए जानते हैं कि कैसे होता है भारत में उपराष्ट्रपति पद के लिए चुनाव ? अगर आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं और विशेषज्ञ मार्गदर्शन की तलाश कर रहे हैं, तो आप हमारे जनरल अवेयरनेस ई बुक डाउनलोड कर सकते हैं  FREE GK EBook- Download Now. / GK Capsule Free pdf - Download here
May Month Current Affairs Magazine DOWNLOAD NOW
Indian States & Union Territories E book- Download Now
 

कैसे होता है उपराष्ट्रपति चुनाव ?

भारत में उपराष्ट्रपति पद का चुनाव राष्ट्रपति पद के चुनाव से काफी मायनों में अलग होता है. जैसे कि, भारत में राष्ट्रपति के चुनाव में पूरे देश के निर्वाचित सांसद और विधायक हिस्सा लेते हैं, जबकि उपराष्ट्रपति पद के लिए चुनाव में केवल लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य हीं शामिल हो सकते हैं.

Source: Safalta

दोनों सदनों के सदस्य हिस्सा लेते हैं

भारत में उपराष्ट्रपति पद के चुनाव में दोनों सदनों के सदस्य हिस्सा लेते हैं और केवल अपना एक हीं वोट डाल सकते हैं. उल्लेखनीय है कि लोकसभा में कुल 545 सदस्य और राज्यसभा में सदस्यों की कुल संख्या 245 होते हैं. इन्हीं दोनों सदस्यों के वोट से उपराष्ट्रपति के पद के लिए उम्मीदवार का चयन किया जाता है.
 
Attempt Free Daily General Awareness Quiz - Click here
Attempt Free Daily Quantitative Aptitude Quiz - Click here
Attempt Free Daily Reasoning Quiz - Click here
Attempt Free Daily General English Quiz - Click here
Attempt Free Daily Current Affair Quiz - Click here
 

बैलेट पेपर से होता है चुनाव

उपराष्ट्रपति के लिए चुनाव बैलेट पेपर से होता है.

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
इन बैलेट पेपर पर किसी प्रकार का कोई इलेक्शन चिन्ह नहीं होता है. इन बैलेट पेपर पर केवल उम्मीदवार का नाम लिखा होता है. उम्मीदवारों के नाम के सामने चिन्ह अंकित करके मतदान की प्रक्रिया पूर्ण की जाती है.
भारत में उपराष्ट्रपति का चुनाव दोनों सदनों यानी लोक सभा और राज्य सभा के चुने हुए एवं नामित दोनों तरह के सदस्य करते हैं. हालाँकि राष्ट्रपति के चुनाव में नामित सदस्य भाग नही लेते हैं. उपराष्ट्रपति का चुनाव सीमित निर्वाचक मंडली के द्वारा हीं किया जाता है. वैसे उपराष्ट्रपति पद के लिए मतगणना की पद्धति राष्ट्रपति के जैसी हीं होती है. यानी अनुपातिक प्रतिनिधित्व द्वारा एकल हस्तांतरणीय मत से.

चुनाव के लिए योग्यता

उपराष्ट्रपति के प्रत्येक उमीदवार को मतगणना के लिए योग्य होने से पहले दोनों सदनों के 20 सदस्यों द्वारा नामित होना अनिवार्य होता है. जिसके बाद हीं वह उम्मीदवार चुनाव के लिए योग्य माना जा सकता है. मतदाता उम्मीदवारों को राज्यों के आधार पर रैंक करते हैं.
 
सामान्य हिंदी ई-बुक -  फ्री  डाउनलोड करें  
पर्यावरण ई-बुक - फ्री  डाउनलोड करें  
खेल ई-बुक - फ्री  डाउनलोड करें  
साइंस ई-बुक -  फ्री  डाउनलोड करें  
अर्थव्यवस्था ई-बुक -  फ्री  डाउनलोड करें  
भारतीय इतिहास ई-बुक -  फ्री  डाउनलोड करें  
 

वोटों की गणना

उम्मीदवार द्वारा आवश्यक वोटों की संख्या की गणना कुल वैध वोटों की संख्या को दो से विभाजित करके, और किसी भी शेष को घटा कर भागफल में जोड़ दिया जाता है. यदि कोई उम्मीदवार प्रथम-वरीयता वाले वोटों की आवश्यक संख्या प्राप्त नहीं करता है, तो कम वरीयता वोटों वाले उम्मीदवार को हटा दिया जाता है और दूसरी वरीयता वाले वोटों को स्थानांतरित कर दिया जाता है. प्रक्रिया तब तक दोहराई जाती है जब तक कोई उम्मीदवार अपेक्षित संख्या में वोट प्राप्त नहीं करता.

यह भी देखें 

President Election Process in India: चुनाव आयोग ने जारी की 16वें राष्ट्रपति चुनाव की अधिसूचना. जानिए कैसे होता है चुनाव

Yashwant Sinha Presidential Candidate: जानिए कौन है यूपीए के प्रेसिडेंट सीएम कैंडिडेट यशवंत सिन्हा

President of India From 1950 to 2022- भारत के राष्ट्रपतियों की पूरी सूची 1950 से 2022 तक

चुनाव परिणाम

चुनाव आयोजित होने और मतों की गिनती होने के बाद निर्वाचक मंडल द्वारा चुनाव परिणाम घोषित किए जाते हैं.
 

Free E Books