History of the Indus River System (PDF): सिंधु नदी प्रणाली, यहां डाउनलोड करें पीडीएफ

Safalta Experts Published by: Nikesh Kumar Updated Thu, 27 Jan 2022 02:24 PM IST

Highlights

सिंधु नदी प्रणाली के बारे में पूरा पढ़ने के लिए यहां पीडीएफ डाउनलोड करें

सिंधु नदी को दुनिया की सबसे बड़ी नदी घाटियों में से एक कहा जाता है। सिंधु नदी, चीन का तिब्बत वाला क्षेत्र, भारत और पाकिस्तान से होकर बहती है और फिर अरब सागर में जाकर मिल जाती है। तिब्बत में सिंधु नदी को सिंगी खंबाई या शेर के मुंह के नाम से जाना जाता है। लद्दाख में सिंधु नदी एक सीधे और लंबे रास्ते से यानी लद्दाख और जास्कर पर्वत श्रंखला से होकर गुजरती है। इस रास्ते पर सिंधु नदी की धार बहुत धीमी होती है। हिमालय को पार करने के बाद, यह दक्षिण-पश्चिम में बदल जाती है और दर्दिस्तान क्षेत्र में छिल्लर के पास पाकिस्तान में प्रवेश करती है। भारत में सिंधु नदी केवल जम्मू कश्मीर के लिए जिले में ही बहती है। सिंधु नदी की पांच प्रमुख सहायक नदियां है जो सिंधु में आकर मिलती है। चलिए जानते है इन सहायक नदियों के बारे में- 
  • झेलम
झेलम नदी पंजाल रेंज की तलहटी में शेषनाग झील से शुरू होती है। नदी श्रीनगर और वूलर झील से होकर बहती है। झेलम पाकिस्तान के चिनाब में सिंधु नदी से मिल जाती है।
  • चिनाब
चिनाब नदी दो धाराओं, चंद्रा और भागा से मिलकर बनी है, जो हिमाचल प्रदेश में केलांग के पास टांडी में मिलती है।

Source: social media

चिनाब नदी को चंद्रबाग के नाम से भी जाना जाता है। चिनाब नदी सिंधु की सबसे बड़ी सहायक नदी में से एक है। नदी हिमालय और पीर पंजाल श्रेणी के बीच कुल्लू, चंबा से होकर बहती है। 
  • रावी
रावी नदी हिमाचल प्रदेश राज्य में कुल्लू पहाड़ियों में रोहतांग दर्रे के पास से शुरू होती है। नदी पीर पंजाल के दक्षिण-पूर्वी भाग और धौलाधार पर्वतमाला के बीच स्थित क्षेत्र से होकर बहती है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
Something went wrong!
Download App & Start Learning
यह पाकिस्तान के पंजाब क्षेत्र में सराय संधू के पास चिनाब नदी में मिल जाती है। 
  • ब्यास
व्यास नदी की शुरुआत हिमाचल प्रदेश में रोहतांग के पास व्यास कुंड से होती है।  व्यास  नदी पंजाब राज्य के हरिके में सतलुज नदी में मिल जाती है। हरिके आर्द्रभूमि एक रामसर स्थल है, जो अंतरराष्ट्रीय महत्व की आर्द्रभूमि है।
  • सतलुज
सतलुज नदी चीनी क्षेत्र तिब्बत के मानसरोवर झील के पास राकस झील से निकलती है। तिब्बत में,  सतलुज नदी को लंगचेन खंबाब के नाम से जाना जाता है। सतलुज नदी शिपकी ला में भारत में प्रवेश करने से पहले सिंधु नदी के समानांतर बहती है। यह एक पूर्ववर्ती नदी है। भाखड़ा नंगल परियोजना का निर्माण सतलुज नदी पर किया गया है।

जो अभ्यर्थी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, उन्हें यह मालूम होगा कि परीक्षा में इतिहास विषय से किस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं।हर प्रतियोगी परीक्षा जिसमें इतिहास विषय होता है, उससे सिंधु नदी से जुड़े कोई ना कोई सवाल जरूर पूछे जाते हैं। सिंधु नदी प्रणाली के बारे में पूरा पढ़ने के लिए आप यहां दिए गए लिंक पर क्लिक करके फ्री पीडीएफ डाउनलोड कर सकते हैं। 
Indus River System (PDF)- Click Here

Free E Books