NEET Counselling 2022, कितनी रैंक पर मिलेगा सरकारी मेडिकल कॉलेजों में दाखिला? जानें

Safalta Experts Published by: Nikesh Kumar Updated Fri, 09 Sep 2022 12:04 PM IST

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने 17 जुलाई को हुई नीट परीक्षा के रिजल्ट अपनी ऑफिशियल वेबसाइट पर 7 सितंबर को जारी कर दिए हैं। नीट परीक्षा का आयोजन 490 से अधिक शहरों में बनाए गए 3570 परीक्षा केंद्रों पर करवाया गया था। 2022 में हुई मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट परीक्षा के लिए पूरे देश भर से 1872331 अभ्यर्थियों ने अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया था। जारी हुए कट ऑफ के आधार पर इस साल सामान्य वर्ग के लिए कट ऑफ 715 से 117 अंक आया है। अगर हम बात करें 2022 नीट टॉपर की तो इस साल राजस्थान की रहने वाली तनिष्का ने ऑल इंडिया रैंक वन हासिल की है तो वही दूसरी रैंक वत्स आशीष बत्रा को मिली है। अगर आप भी नीट परीक्षा के कैंडिडेट है तो आप जरूर जानना चाहते होंगे कि देश में सरकारी मेडिकल कॉलेजों की कट ऑफ क्या जाती है। इस आर्टिकल में हम आपको पिछले वर्षों की कट ऑफ लिस्ट बताने वाले हैं। Recommended: Prepare for NEET with Safalta, Click here to know more. 
September Month Current Affairs Magazine DOWNLOAD NOW 
NEET Eligibility Criteria - Click Here


यह देखा गया है कि ज्यादातर छात्र एमबीबीएस करने के लिए सरकारी मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश लेना चाहते हैं। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि प्राइवेट और डीम्ड मेडिकल कॉलेज कितने महंगे हैं लेकिन इन सरकारी कॉलेजों में प्रवेश पाने के लिए आपको कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
बता दें कि भारत में 584 मेडिकल कॉलेजों में 87,000 एमबीबीएस सीटें हैं। इन मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश NEET UG 2022 के माध्यम से लिया जा सकता है। इनमें से ज्यादातर कॉलेज महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में हैं।

Table of Content 

भारत में NEET UG मेडिकल काउंसलिंग के प्रकार

भारत में दो तरह की मेडिकल एमबीबीएस एडमिशन काउंसलिंग होती है- एक ऑल इंडिया लेवल और दूसरी स्टेट लेवल। अखिल भारतीय स्तर की काउंसलिंग में, सभी सरकारी मेडिकल कॉलेजों, डीम्ड विश्वविद्यालयों, केंद्रीय विश्वविद्यालयों, सभी ईएसआईसी की 15% सीटों को कवर किया जाता है, जबकि राज्य स्तर की काउंसलिंग में, सरकारी मेडिकल कॉलेजों, निजी कॉलेजों और विश्वविद्यालयों की शेष 85% सीटों को कवर किया जाता है।
  
NEET UG मेडिकल प्रवेश परीक्षा में पर्सेंटाइल क्या है?
 
छात्रों की रैंकिंग तय करने के लिए नीट में पर्सेंटाइल का इस्तेमाल किया जाता है। उदाहरण के लिए, 50 पर्सेंटाइल का मतलब है कि आपको NEET UG में उपस्थित होने वाले छात्रों के 50% से अधिक अंक प्राप्त करने होंगे। एक अनारक्षित श्रेणी या सामान्य के तहत सरकारी मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश पाने के लिए, छात्रों को राज्यों के आधार पर न्यूनतम 520 से 610 अंक प्राप्त करने होते हैं।
 

एमसीसी एनईईटी 2022 काउंसलिंग: पिछले वर्ष की कट-ऑफ

 

मेडिकल कॉलेजों का नाम

सरकारी कॉलेजों के लिए नीट 2021 कट ऑफ

2020 नीट क्लोजिंग कटऑफ रैंक

2019 नीट क्लोजिंग रैंक

2018 नीट क्लोजिंग रैंक

2017 नीट क्लोजिंग रैंक

2016 नीट क्लोजिंग रैंक

2015 एआईपीएमटी क्लोजिंग रैंक

मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली

1179

90

32

58

49

44

28

वीएमएमसी और सफदरजंग अस्पताल, नई दिल्ली

143

163

157

107

82

106

56

यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज, नई दिल्ली

215

324

171

165

185

128

97

लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली

414

571

489

314

369

263

117

गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, चंडीगढ़

37720

776

360

254

278

162

158

सेठ जीएस मेडिकल कॉलेज, मुंबई

773

457

638

296

297

408

216

किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ

1623

1800

908

703

725

506

386

स्टेनली मेडिकल कॉलेज, चेन्नई

6146

5253

4572

3520

3,858

2,264

2,039

पं. भागवत दयाल शर्मा स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान, रोहतक

6379

6573

1825

1178

1,481

1,035

674

ग्रांट मेडिकल कॉलेज और सर जेजे ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स, मुंबई

 

2828

1329

1122

1,018

408

565

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली 53 - - - - - -
जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, पुडुचेरी 227 - - - - -



एमसीसी एनईईटी यूजी काउंसलिंग आरक्षण
 
केंद्र सरकार की आरक्षण नीति के अनुसार NEET UG काउंसलिंग निम्नलिखित अखिल भारतीय कोटा (AIQ) के अधीन है:
 
अनुसूचित जाति- 15 प्रतिशत
 
अनुसूचित जनजाति- 7.5 प्रतिशत
 
पीडब्ल्यूडी- 5 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण
 
ओबीसी (नॉन-क्रीमी लेयर)- 27 प्रतिशत (केवल राष्ट्रीय संस्थानों या केंद्रीय विश्वविद्यालयों में)
 
ईडब्ल्यूएस- 10 प्रतिशत (केवल राष्ट्रीय संस्थानों या केंद्रीय विश्वविद्यालयों में)
 
एनईईटी के बारे में-
 
परीक्षा का तरीका- ऑफलाइन
भाग लेने वाले कॉलेज- 1266
 

टाई ब्रेकिंग पॉलिसी 2021

NEET पिछले वर्षों की कट ऑफ नीट पास किए बिना भी मेडिकल कोर्सेज में ले सकते हैं एडमिशन
 

क्या नीट सिर्फ एमबीबीएस के लिए है?

नीट परीक्षा सरकारी और प्राइवेट संस्था में मेडिकल की पढाई के लिए करवाई जाती है. जैसे की (एमबीबीएस, बीडीएस, बीएएमएस, बीयूएमएस, बीएचएमएस, आदि)

क्या NEET 2022 कुंजी जारी की गई है?

नीट आंसर की 18 जुलाई को जारी की सकती है.

NEET के लिए पास पासिंग क्या है?

नीट परीक्षा को पास करने के लिए जनरल वर्ग के स्टूडेंट को 50% अंक लाने होंगे.

नीट में कितनी सीटें होती हैं?

NEET UG में 91,827 MBBS सीटें, 27,698 BDS सीटें, 50,720 आयुष सीटें और 525 B. VSc और AH सीटें हैं।

Free E Books