विविध अधिगमकर्ताओं Understanding of Diverse Learners

Safalta Experts Published by: Blog Safalta Updated Sat, 11 Sep 2021 02:48 PM IST

वर्तमान परिप्रेक्ष्य में सभी विद्यालयों को एक ऐसे रूप में परिलक्षित कर रहे हैं जहा पर बच्चे की विभिन्नताओं (शारीरिक , मानसिक , सामाजिक,आर्थिक , लैंगिक आदि) के होते हुए भी उन्हें सभी के साथ मिलकर ज्ञान सृजन करने के समान अवसर मिल सके । उनकी व्यक्तित्व आवश्यकताओं के अनुरूप उन्हें कक्षा कक्ष में उचित वातावरण मिल सके , ताकि वे आत्म विश्वास , आत्मसम्मान , सकारात्मक सोच , प्रभारी संप्रेषण आदि गुणों को स्वयं में विकसित करते हुए संपूर्ण व्यक्तित्व विकास की ओर अग्रसर हो सकें बच्चों के सीखने के तौर तरीकों में विविधता होती है। इन तरीकों में मुख्यत: अनुभव करके सीखना , प्रयोग करना ,पढ़ना , चर्चा करना , प्रश्न पूछना, सुनना,सोचना, चिंतन करना , छोटे एवं बड़े समूह में गतिविधियां करना आदि हैं। समावेशी शिक्षा के लिए सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत जिन पहलुओं पर ध्यान दिया जाता है , उनमें बच्चों की पहचान , शिक्षा संबंधी औपचारिक मूल्यांकन , आवश्यकता के अनुसार उचित शिक्षा की व्यवस्था , व्यक्तिगत योग्यता पर आधारित शिक्षा योजना तैयार करना , सहायक और अन्य उपकरणों की व्यवस्था , शिक्षक प्रशिक्षण , बाहरी शिक्षक की सहायता , वस्तु संबंधी अवरोधों को हटाना, निगरानी और मूल्यांकन , अनुसंधान तथा विशिष्ट आवश्यकताओ वाली लड़कियों पर विशेष ध्यान आदि हैं।साथ ही अगर आप भी इस पात्रता परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं और इसमें सफल होकर शिक्षक बनने के अपने सपने को साकार करना चाहते हैं, तो आपको तुरंत इसकी बेहतर तैयारी के लिए सफलता द्वारा चलाए जा रहे CTET टीचिंग चैंपियन बैच- Join Now से जुड़ जाना चाहिए।
Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करें General Knowledge Ebook Free PDF: डाउनलोड करें

Source: Inclusive Schools Network

Free E Books