What is Marketing Research जानिए क्या होता है मार्केटिंग रिसर्च ?

Safalta Experts Published by: Kanchan Pathak Updated Mon, 22 Aug 2022 09:47 PM IST

Highlights

मार्केटिंग रिसर्च को किसी भी टेक्निक या प्रैक्टिस के सेट के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जिसका उपयोग कंपनियां अपने लक्षित या टार्गेटेड मार्किट को बेहतर ढंग से समझने के वास्ते तथा उस बावत जानकारी एकत्र करने के लिए करती हैं.

हेलो दोस्तों, जाहिर सी बात है कि अगर आप किसी भी बिज़नेस को शुरू करने जा रहे हैं तो आपको पहले उसके बारे में सब कुछ जानना चाहिए. अलग अलग बिज़नेस की मार्किट भी अलग अलग होती है. तो आपको अपने बिज़नेस को करने से पहले उसकी मार्किट को समझना पड़ेगा. मार्केटिंग रिसर्च को किसी भी टेक्निक या प्रैक्टिस के सेट के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जिसका उपयोग कंपनियां अपने लक्षित या टार्गेटेड मार्किट को बेहतर ढंग से समझने के वास्ते तथा उस बावत जानकारी एकत्र करने के लिए करती हैं. विभिन्न संगठन मार्केटिंग रिसर्च से प्राप्त डेटा का उपयोग अपने उत्पादों को अधिक श्रेष्ठ बनाने, अपने UX को बढ़ाने तथा अपने ग्राहकों को बेहतर उत्पाद पेश करने के लिए करते हैं. दरअसल, मार्केटिंग रिसर्च का उपयोग आर्गेनाइजेशन्स यह निर्धारित करने के लिए करते हैं कि उपभोक्ता क्या चाहते हैं. तथा किसी उत्पाद या सेवा की विशेषताओं पर उपभोक्ता किस प्रकार की प्रतिक्रिया करते हैं. Click here to buy a course on Digital Marketing-  Digital Marketing Specialization Course  


मार्केटिंग रिसर्च विधि के 4 मापदण्ड 

सामान्य तौर पर मार्केटिंग रिसर्च विधि के 4 मेथड होते हैं - सर्वे, इंटरव्यू, कस्टमर ऑब्जरवेशन तथा फोकस ग्रुप. आप चाहें तो इनमें से केवल एक या फिर एक से अधिक तरीकों पर भी रिसर्च कर सकते हैं.

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
Something went wrong!
Download App & Start Learning
आइए जानते हैं इन सभी मेथड्स के बारे में -


1. सर्वेक्षण, बिज़नेस की इंडस्ट्री को समझने की कोशिश

आप जिस बिज़नेस को करने जा रहे हैं पहले उसकी इंडस्ट्री को समझना जरूरी है. इसके लिए आपको सबसे पहले इंडस्ट्री का ट्रेंड, इंडस्ट्री की मार्केट वैल्यू, इंडस्ट्री में पिछले 5 सालों का बदलाव और कंपीटिशन आदि को देखना चाहिए. बिज़नेस की इंडस्ट्री को समझने के लिए पीओएस पर ऑनलाइन प्रश्नावली या ऑन-स्क्रीन सर्वे के माध्यम से रिसर्चर्स प्रतिक्रियाएँ और डेटा एकत्र करते हैं. इन सर्वेक्षणों में क्लोज-एंडेड और ओपन-एंडेड प्रश्न होते हैं. यह एक लोकप्रिय और सबसे व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली मार्केटिंग रिसर्च की विधि है.


2. इंटरव्यू

आमने-सामने या व्यक्तिगत साक्षात्कार (personal interviews) मार्केटिंग रिसर्च की विधि का एक पारंपरिक तरीका है. प्रतिक्रियाएं या रिस्पोंस एकत्रित करने का यह एक धीमा और थोड़ा ज्यादा मँहगा तरीका है. मार्केटिंग रिसर्च करने वाले रिसर्चर्स बड़े पैमाने पर प्रतिक्रियाएँ एकत्र करने के लिए इस पद्धति को ज्यादा पसंद नहीं करते हैं. इंटरव्यू व्यक्तिगत साक्षात्कार के रूप में या फिर टेलीफोन पर भी आयोजित किए जाते हैं.


3. फोकस ग्रुप्स

फ़ोकस ग्रुप्स या ऑनलाइन फ़ोकस ग्रुप्स में कई उत्तरदाता शामिल होते हैं जो किसी विशेष विषय पर चर्चा में भाग लेते हैं. एक रिसर्चर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए फोकस समूह आयोजित करता है. फोकस समूह का मुख्य उद्देश्य किसी विशेष विषय पर रुचि के मुताबिक विभिन्न लोगों के बीच संवाद आयोजित करना है. इंटरव्यू के विपरीत, फोकस ग्रुप्स के सदस्यों को एक दूसरे के साथ बातचीत करने और एक दूसरे को प्रभावित करने की अनुमति रहती है.


4. कस्टमर ऑब्जरवेशन

हालाँकि कस्टमर ऑब्जरवेशन एक लोकप्रिय मेथड नहीं है तथा यह व्यापक रूप से इस्तेमाल नहीं किया जाता है तथापि यह विधि एक सबसे सहज प्रतिक्रिया देने वाली विधि है. ग्राहक, प्रोडक्ट या सेवा के साथ कैसे जुड़ते हैं, इस बारे में जानकारी एकत्र करने के लिए आर्गेनाइजेशन्स, रिसर्च कस्टमर ऑब्जरवेशन सत्र का आयोजन करती हैं. अपने उत्पादों और सेवाओं को बेहतर बनाने के इच्छुक रिसर्चर के लिए लोगों के व्यवहार संबंधी दृष्टिकोण से प्रतिक्रिया मिलना एक प्रभावशाली युक्ति होता है.
चाहे कोई भी बिज़नेस हो ग्राहक सबसे ज्यादा मायने रखते हैं. अतः इसके लिए आपको सबसे पहले अपने ग्राहक को ढूंढना होगा. यह जानना होगा कि आपके बिज़नेस के लिए किस तरह के ग्राहक सही हैं, वे कहाँ मिलेंगे, वे क्या पसन्द कर सकते हैं क्या नहीं इस प्रकार की सारी बातें आपको देखनी होंगी.


निष्कर्ष

इस प्रकार आर्गेनाइजेशन्स, मार्केटिंग रिसर्च के उपरोक्त अलग अलग विधियों का प्रयोग करके अपने बिजनस के अंदर कुछ गोल्स सेट करते हैं ताकि उनको एक अनुकूल रास्ता मिल सके कि आखिर आपको जाना कहाँ है.
 

मार्केटिंग रिसर्च से आप क्या समझते हैं ?

मार्केटिंग रिसर्च को किसी भी टेक्निक या प्रैक्टिस के सेट के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जिसका उपयोग कंपनियां अपने लक्षित या टार्गेटेड मार्किट को बेहतर ढंग से समझने के वास्ते तथा उस बावत जानकारी एकत्र करने के लिए करती हैं.

मार्केटिंग रिसर्च का क्या उपयोग है ?

दरअसल, मार्केटिंग रिसर्च का उपयोग आर्गेनाइजेशन्स यह निर्धारित करने के लिए करते हैं कि उपभोक्ता क्या चाहते हैं. तथा किसी उत्पाद या सेवा की विशेषताओं पर उपभोक्ता किस प्रकार की प्रतिक्रिया करते हैं. 

मार्केटिंग रिसर्च के मेथड क्या होते हैं ?

सामान्य तौर पर मार्केटिंग रिसर्च विधि के 4 मेथड होते हैं - सर्वे, इंटरव्यू, कस्टमर ऑब्जरवेशन तथा फोकस ग्रुप.

मार्केटिंग रिसर्च में उपयोग की जाने वाली सबसे लोकप्रिय मेथड क्या है ?

सर्वेक्षण, यानि बिज़नेस की इंडस्ट्री को समझने की कोशिश मार्केटिंग रिसर्च की सबसे ज्यादा लोकप्रिय और सबसे व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली विधि है. 

मार्केटिंग रिसर्च की सबसे सहज प्रतिक्रिया देने वाली विधि क्या है ?

मार्केटिंग रिसर्च में कस्टमर ऑब्जरवेशन की विधि एक सबसे सहज प्रतिक्रिया देने वाली विधि है.

Free E Books