10 Personal Development Tips for Young Career Professionals, यंग करियर प्रोफेशनल्स के लिए 10 पर्सनल डेवलपमेंट टिप्स जानिये यहाँ

Safalta Experts Published by: Kanchan Pathak Updated Wed, 28 Sep 2022 03:09 PM IST

Highlights

अगर आप एक यंग करियर प्रोफेशनल हैं तो आज की इस आर्टिकल में हम आपके लिए कुछ ऐसे टिप्स लेकर आए हैं जो आपके काम और आपके पर्सनल डेवलपमेंट के बीच सन्तुलन बनाने में आपकी सहायता कर सकती है. तो आइए जानते हैं व्यक्तिगत विकास के वे 10 टिप्स जो आपको अपने करियर की शुरुआत में जरुर सीखने चाहिए.

हेलो दोस्तों, हो सकता है कि अपने जॉब में आपने अपनेआप को कई बार बहुत हीं कशमकश की स्थिति में पाया होगा. कई बार निराशा तो कई बार स्ट्रेस का सामना किया होगा. तो अगर आप एक यंग करियर प्रोफेशनल हैं तो आज की इस आर्टिकल में हम आपके लिए कुछ ऐसे टिप्स लेकर आए हैं जो आपके काम और आपके पर्सनल डेवलपमेंट के बीच सन्तुलन बनाने में आपकी सहायता कर सकती है. तो आइए जानते हैं व्यक्तिगत विकास के वे 10 टिप्स जो आपको अपने करियर की शुरुआत में जरुर सीखने चाहिए.
 

Click here to buy a course on Digital Marketing-  Digital Marketing Specialization Course   


1. सुस्त न हों

जब आप अपना करियर शुरू करते हैं तो आप युवा होते हैं, आप फिट होते हैं, आपमें स्फूर्ति होती है, आपका एक अलग और नया नज़रिया होता है, आप कम छुट्टियाँ लेते हैं और ज्यादा काम करते हैं, आपमें अपने काम को लेकर एक जुनून होता है.

Source: Safalta.com

इस वक्त आपके द्वारा की जाने वाली मेहनत आपको जीत और सफलता दिला सकती है. इस लिए बिना सुस्त हुए अपनी स्फूर्ति को कायम रखें, अपने विचार शेयर करें और हमेशा नई चीजें सीखने और कंपनी के साथ जुड़ने के नए तरीकों की तलाश में रहें. जॉब डिस्क्रिप्शन या सीनियोरिटी हीं सब कुछ नहीं होता आपकी चुस्त दुरुस्ती आपको ''एम्पलॉय ऑफ़ द इयर'' का ख़िताब दिला सकती है.

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
Something went wrong!
Download App & Start Learning


2. अर्ली रहें

अपने करियर में आगे बढ़ने के लिए यह बड़ी हीं जाहिर और स्पष्ट टिप्स है जिसके बारे में ज्यादातर लोग शायद हीं कभी सोचते हैं. आपने देखा होगा कि अच्छे से अच्छे एम्पलॉय को निकाल दिया जाता है क्योंकि वे काम पर समय से नहीं आते हैं. आपका जल्दी काम पर आना और जल्दी काम शुरू करना कंपनी और उनके समय के प्रति आपके सम्मान को दर्शाता है. इसलिए हमेशा अर्ली रहें.


3. प्रश्न पूछें

यह एक बहुत आश्चर्य की बात है कि न जाने कितने हीं लोग अपना काम गलत करते हैं क्योंकि वे अपने सुपीरियर से हेल्प, एडवाइस या क्लेरीफिकेशन माँगने से डरते हैं. जबकि आप और आपके हाइयर दोनों यही चाहते हैं कि आप ठीक से काम करें. तो फिर प्रश्न पूछें. प्रश्न पूछने से कभी न डरें.


4. नकारात्मक लोगों से दूर रहें

यह एक ऐसा सिद्धांत है जिसका पालन आपको न केवल काम पर, बल्कि अपने निजी जीवन में भी जरुर करना चाहिए. हर ऑफिस में हमेशा हीं कोई न कोई ऐसा नेगेटिव व्यक्ति जरुर होता है जो कि वर्क ड्रामा, अपने कोवर्कर के बारे में गॉसिप या फ़जूल के काम करना ज्यादा पसंद करता है. इस तरह के नेगेटिव व्यक्ति की संगत से आपके करियर को निश्चित नुकसान होगा.


5. अपने आइडियाज शेयर करें

जब आप कंपनी में कुछ समय तक काम कर चुके होते हैं तब कई बार आपको यह पता चल चुका होता है कि किस तरीके से एफिशिएंसी को बढ़ाया जा सकता है, कॉस्ट कटौती की जा सकती है, या फिर नए कस्टमर हासिल किए जा सकते हैं. अगर आपके पास ऐसे आइडियाज हैं तो अपने विचारों को अपने बॉस के साथ साझा करें. इस तरह उन्हें यह दिखाने का यह एक शानदार तरीका है कि आप न केवल खुद को आगे बढ़ाने में, बल्कि पूरी कंपनी को आगे बढ़ाने में रुचि रखते हैं.


6. मुखर रहें

जब आप किसी ऑफिस में काम करते हैं तो हो सकता है कि आपका कोई सहकर्मी आपके डेस्क पर अपने हिस्से के काम को डंप करने का प्रयास कर रहा हो, या आपका कोई फेलो एम्पलॉय आप पर कोई अनुचित टिप्पणी कर रहा हो. ऐसे हालात में कार्यस्थल में आपका मुखर होना आवश्यक है. एक समय में सभी नए होते हैं, आप नए हो सकते हैं, लेकिन आप एक डोरमैट नहीं हैं.


7. अपनी योग्यता का एहसास करें

कई बार ऐसा होता है कि आप काम शुरू करते हो, आपका काम बढ़ता है आपकी रिस्पोंसिबिलिटी बढ़ती है परन्तु आपकी सैलरी नहीं बढ़ती. आपके रिक्वेस्ट, रीज़न और रिटेन प्रपोजल से भी हाइयर को कोई फर्क नहीं पड़ता. आप घुटन महसूस करते हैं पर काम नहीं छोड़ना चाहते. ऐसे में जब आपको लगे तो दूसरी जगह कोशिश करें जहाँ आपकी योग्यता को महत्त्व दिया जाए, तो अपने दिल की सुनें.


8. भावनाओं को इससे दूर रखें

करियर के क्षेत्र में आपके साथ एक या कई बार ऐसा हो सकता है इसलिए अपनी भावनाओं को इससे दूर रखने की कोशिश करें. पहली बार सैलरी बढ़ाने के लिए पूछना  आसान नहीं भी हो सकता है और आपकी कोशिश के बाद भी आपको उनका इनकार सुनना उससे भी ज्यादा मुश्किल रह सकता है क्योंकि इससे आपकी भावनाएँ पूरी तरह से आहत हो सकती हैं. परन्तु इस सबके बाद भी आपका अत्यधिक भावुक होना अनप्रोफेशनल है, और यह आपको कहीं नहीं ले जाएगा. इसलिए भावुकता को दरकिनार रखें.
 

9. आप जो चाहते हैं उसके लिए पूछें

जैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती है आप अधिक मैच्योर होते हैं वैसे वैसे आप मुखर होते जाते हैं और बिना डरे या कम डरे अपनी बात या अपनी माँग को लोगों के सामने रख सकते हैं. टिम फेरिस की किताब द फोर-आवर वर्कवीक में, वह आपके बॉस से यह पूछने की सलाह देते हैं कि क्या आप हर दिन ऑफिस जाने के बजाय घर से टेलिकॉम्यूट कर सकते हैं. बात का मूल मतलब यह है कि यदि आप नहीं पूछते हैं तो आपको पता कैसे चलेगा कि आपको यह सहूलियत मिल भी सकती है या नहीं.


10. यदि आप नाखुश हैं, तो छोड़ दें

कई बार बहुत से लोग खुद को इस तरह की जॉब्स में फँसा हुआ पाते हैं जिनसे कि वे नफरत करते हैं. परन्तु क्योंकि वे चेंज से डरते हैं इसलिए आत्मतुष्ट रहने की कोशिश करते हैं परन्तु यह जीने के सबसे दुखद तरीकों में से एक है. यदि आप अपनी वर्तमान स्थिति से संतुष्ट नहीं हैं, तो कुछ बेहतर ढूंढने की कोशिश करें.
 

Free E Books