विश्व हिंदी दिवस- 10 जनवरी 2022

Safalta Experts Published by: Abhivardhan Bajpayee Updated Tue, 11 Jan 2022 09:49 PM IST
दुनिया भर में हिंदी भाषा के उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रत्येक वर्ष 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिन प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन की याद में मनाया जाता है, जो 1975 में नागपुर, महाराष्ट्र में हुआ था। पहले विश्व हिंदी सम्मेलन का उद्घाटन तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी ने किया था और मॉरीशस के प्रधान मंत्री शिवसागर रामगुलाम सम्मेलन के मुख्य अतिथि थे। पहले सम्मेलन में 30 देशों के 122 प्रतिनिधियों ने भाग लिया था ।
Source: iStock

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes



यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने करी 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में मनाने की घोषणा
यह भी पढ़ें- कब और क्यों मनाते हैं प्रवासी भारतीय दिवस ?


वर्ष 2006 में मनमोहन सिंह जो उस समय के प्रधान मंत्री थे, उन्होंने 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाने की घोषणा करी थी | यह दिन राष्ट्रीय हिंदी दिवस से अलग है, जो हर वर्ष 14 सितंबर को मनाया जाता है। 'हिंदी' फारसी शब्द हिंद से आया है जिसका अर्थ है वह भूमि जहाँ सिंधु नदी बहती है। हिंदी भाषा की उत्पत्ति संस्कृत से हुई है और इसे देवनागरी लिपि में लिखा जाता है। अंग्रेजी, मंदारिन और स्पेनिश के बाद, हिंदी दुनिया की चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है | 

यहाँ पढ़ें- विश्व हिंदी सम्मेलनों की सूची (1975-2021)
 
  • 14 सितम्बर 1949 को हिंदी भाषा को राजभाषा का दर्जा दिया गया था और इस दिन की याद में प्रत्येक वर्ष 14 सितम्बर को राष्ट्रीय हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • भारत के संविधान का अनुच्छेद 343(1) कहता है- "संघ की राजभाषा देवनागरी लिपि में हिन्दी होगी।"