Geological Park:देश का पहला जीओ पार्क का निर्माण जबलपुर में होगा, भेड़ाघाट के पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा। 

safalta experts Published by: Chanchal Singh Updated Wed, 02 Feb 2022 04:03 PM IST

Highlights

  • 1928 में पहली बार विलियम स्लीमन ने यहां से डायनासोर का जीवाश्म इकट्ठा किया था।
  • भेड़ाघाट में साइंस सेंटर का भी निर्माण हो रहा है।
  • इस पार्क में जियोलॉजिकल संरचनाओं के साथ-साथ मानव सभ्यता के विकास के विषय पर अध्ययन भी करने का मौका मिलेगा।

1st geological park: देश का पहला जियोलॉजिकल पार्क जबलपुर के विश्व प्रसिद्ध भेड़ाघाट क्षेत्र में बनाया जाएगा। 5 एकड़ में 35 करोड़ की लागत से इसे बनाया जाएगा। इसकी डीपीआर (Detailed Project Report) के लिए 1.30 करोड़ रुपए की राशि भी स्वीकृत हो गई है। यहां जियोलॉजिकल संरचनाओं के साथ मानव सभ्यता के विकास का भी अध्ययन करने का अवसर मिलेगा। 

जीओ पार्क में क्या विशेष होगा

जीओ पार्क में भूगर्भ शास्त्र के चमत्कार, लम्हेटा क्षेत्र का महत्व आदि सब कुछ का निर्माण किया जाएगा। इस पार्क में जियोलॉजिकल संरचनाओं के साथ-साथ मानव सभ्यता के विकास के विषय पर अध्ययन भी करने का मौका मिलेगा।

Source: Safalta

देश के इकलौते जीओ पार्क के बनने से भेड़ाघाट पर्यटन क्षेत्र को और अधिक मजबूती मिलेगी, और इस क्षेत्र का विकास भी इसके बाद से तेजी से होगा।

Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करे

साइंस सेंटर निर्माण

भेड़ाघाट में साइंस सेंटर का भी निर्माण हो रहा है। इससे शिक्षा क्षेत्र से जुड़े लोगों को काफी मदद मिलेगी, बच्चों में विज्ञान के प्रति रुचि बढ़ेगी, पर्यटन क्षेत्र में उन्नति होगी।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
जिसकी  सभी प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।  ये सात एकड़ जमीन  में बनाया जाएगा। यह साइंस सेंटर मध्य प्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद को आवंटित करना होगा। जिसके लिए सरकार ने 15.20 करोड़ रुपए की लागत राशि तय की है। इसमें 8.65 करोड़ रुपए राज्य शासन और 6.55 करोड़ रुपए केन्द्रीय संस्कृति मंत्रालय के राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद कोलकत्ता की ओर से खर्च किया जाएगा।

साइंस पार्क और जियोलॉजिकल पार्क के लिए भेड़ाघाट का ही चुना गया।


भूगर्भ शास्त्र (Geology) की दृष्टि से जबलपुर मध्यप्रदेश ही नहीं देश का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान है। यह जबलपुर की प्रकृति अनुपम देन है, 5000 वर्ग किमी क्षेत्र में लम्हेटाघाट फैला है। जिसे लम्हेटा फॉर्मेशन के नाम से जाना जाता है। लाखों साल पहले के सजीवों के साथ डायनासोर के जीवाश्म भी मिले हैं। 1928 में पहली बार विलियम स्लीमन ने यहां से डायनासोर का जीवाश्म इकट्ठा किया था। अब तो यूनेस्को ने भी इसे जीओ हेरिटेज साईट के रूप में मान्यता दे दी है। इसी कारण से साइंस पार्क और जियोलॉजिकल पार्क के लिए भेड़ाघाट का ही चुना गया है।

General Knowledge Ebook Free PDF: डाउनलोड करें 

Free E Books