Mani Shankar Aiyar Biography: जाने की मणिशंकर अय्यर की जीवनी

Safalta Experts Published by: Nikesh Kumar Updated Thu, 10 Feb 2022 10:53 PM IST

मणिशंकर अय्यर का जन्म 10 अप्रैल 1941 को लाहौर, पंजाब, ब्रिटिश भारत (अब पाकिस्तान) में हुआ था. उनके पिता का नाम वैद्यनाथ शंकर अय्यर और माता का नाम भाग्यलक्ष्मी शंकर अय्यर है. 1947 में विभाजन के बाद उनका परिवार भारत आ गया. उनके पिता एक एकाउंटेंट थे और मणिशंकर अय्यर के बचपन में ही उनकी मृत्यु हो गई थी. मणिशंकर अय्यर की पढ़ाई लिखाई देहरादून, उत्तर प्रदेश (अब उत्तराखंड) के दून स्कूल में हुई थी, जहाँ राजीव गांधी से उनकी दोस्ती हुई.

Source: social media

आगे की पढाई में उन्होंने अर्थशास्त्र में दो डिग्रियाँ हासिल की, एक दिल्ली विश्वविद्यालय (1961) से और दूसरी कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय, इंग्लैंड (1963) से. यदि आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं और विशेषज्ञ मार्गदर्शन की तलाश कर रहे हैं, तो आप हमारे जनरल अवेयरनेस ई बुक डाउनलोड कर सकते हैं  FREE GK EBook- Download Now.
Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करे


उनका विवाह सुनीत वीर सिंह से हुआ था. दंपति की तीन बेटियाँ हैं, जिनका नाम सुरन्या अय्यर, यामिनी अय्यर और सना अय्यर है.

करियर और राजनीतिक यात्रा-

1963 में उन्होंने भारतीय विदेश सेवा में प्रवेश किया. अपनी विदेश सेवा के दौरान उन्होंने अगले 15 वर्षों में, बेल्जियम और इराक जैसे कई विदेशी राजनयिक पदों पर कार्य किया.
सन 1978 में उन्हें कराची में उप उच्चायोग के कार्यालय में भारत के पहले महावाणिज्य दूत के रूप में नामित किया गया था और इस पद पर वे 1982 तक बने रहे थे.
सन 1982 से 1983 तक, उन्होंने विदेश मंत्रालय में भारत सरकार के संयुक्त सचिव के रूप में कार्य किया.

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
इसके बाद, सन 1985 से 1989 तक उन्होंने प्रधान मंत्री कार्यालय में संयुक्त सचिव के रूप
में कार्य किया.

जाने नवजोत सिंह सिद्धू की जीवनी

सन 1989 में, उन्होंने राजनीति में अपना करियर बनाने के उद्देश्य से विदेश सेवा से सेवानिवृत्ति लेने का फैसला किया और कांग्रेस पार्टी के सदस्य के रूप में, उन्होंने राजीव गांधी के विशेष सहायक के रूप में कार्य किया. सन 1991 में राजीव गांधी की हत्या तक वे पार्टी के अध्यक्ष रहे.

सन 1991 में, उन्होंने तमिलनाडु राज्य के एक निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा में एक सीट जीती. सन 1996 और 1998 में, वह दो चुनाव हार गए लेकिन फिर सन 1999 और 2004 में दो बार वे फिर से चुने गए.
वह नवगठित कांग्रेस के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) गठबंधन सरकार के मंत्रिमंडल में शामिल हुए. और सन 2009 तक, वह पंचायती राज के प्रमुख रहे.

यूपीए सरकार में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय (2004-06), युवा मामले और खेल (2006-08), और उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विकास (2008-09) जैसे विभिन्न
विभागों को भी संभाला. इसके बाद सन 2009 के लोकसभा चुनावों में, उन्होंने अपनी सीट खो दी और इसलिए सरकार से इस्तीफा दे दिया.

MS Dhoni Biography: पढ़िए कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय

सामाजिक सेवाओं के क्षेत्र में उनकी विशेषज्ञता और उनकी साहित्यिक उपलब्धियों के कारण उन्हें मार्च 2010 में राष्ट्रपति द्वारा राज्यसभा के लिए नामित किया गया. उन्होंने ग्रामीण विकास पर स्थायी समिति और विदेश मामलों की सलाहकार समिति में भी कार्य किया. इसके बाद सन 2016 में उन्होंने राज्यसभा छोड़ दी।

पुरस्कार-
सन 2006 में उन्हें भारत के राष्ट्रपति द्वारा वर्ष के उत्कृष्ट सांसद के रूप में सम्मानित किया गया.

मणिशंकर अय्यर द्वारा लिखित पुस्तकें-

उनके द्वारा लिखी गई कुछ प्रमुख पुस्तकें निम्नलिखित हैं- Remembering Rajiv (रेमेम्ब्रिंग राजीव) (1992), Knickerwallahs, Silly-Billies, and Other Curious Creatures (1995), Confessions of a Secular Fundamentalist (एक धर्मनिरपेक्ष कट्टरपंथी का इकबालिया बयान) (2004), और A Time of Transition: Rajiv Gandhi to the 21st Century (संक्रमण का समय: 21वीं सदी के लिए राजीव गांधी) (2009) मणिशंकर अय्यर को भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत और कूटनीति के माध्यम से शांति के लिए एक उग्र नायक के रूप में जाना जाता है. हालांकि, एक सांसद के रूप में, उन्होंने कभी-कभी अपने तीखे बयानों के कारण विवादों को भी जन्म दिया.

Biography of Vallabhbhai Patel: वल्लभभाई पटेल की जीवनी

FAQ-
1. मणिशंकर अय्यर का जन्म कब हुआ था ?
2.मणिशंकर अय्यर की मित्रता राजीव गांधी से कहाँ पर हुई ?
3.सन 2009 में मणिशंकर अय्यर ने सरकार से इस्तीफ़ा क्यों दिया था ?
4.Remembering Rajiv पुस्तक के लेखक का नाम क्या है ?
5.मणिशंकर अय्यर का जन्म कहाँ हुआ था ?
उत्तर -
1. 10 अप्रैल 1941
2.देहरादून, उत्तर प्रदेश (अब उत्तराखंड) के दून स्कूल में.
3.क्योंकि लोकसभा चुनावों में, उन्होंने अपनी सीट खो दी थी.
4. मणिशंकर अय्यर.
5.लाहौर (अब पाकिस्तान में) में.

Free E Books