न्यू कैलेडोनिया बना रहेगा फ्रांस का हिस्सा

Safalta Experts Published by: Blog Safalta Updated Mon, 13 Dec 2021 09:07 PM IST

न्यू कैलेडोनिया के मतदाताओं ने 12 दिसंबर 2021 को यह तय करने के लिए मतदान किया था कि वे फ्रांस के साथ रहेंगे या नहीं। मतदान के माध्यम से न्यू कैलेडोनिया के मतदाताओं ने फ्रांस में ही बने रहने का निर्णय लिया है। मतदान में भाग लेने वाले कुल मतदाताओं में से 96% मतदाताओं ने फ्रांस के साथ बने रहने के पक्ष में अपना मत दिया । प्रशांत महासागर में स्थित न्यू कैलेडोनिया फ्रांसीसी क्षेत्र के अंतर्गत आता है। इस जनमत संग्रह में भाग लेने वाले लोगों का प्रतिशत पिछली बार जनमत संग्रह में भाग लेने वाले लोगों के प्रतिशत से कम था।

इस बार कुल 42% लोगों ने जनमत संग्रह में हिस्सा लिया था जबकि पिछली बार 46.7% लोगों ने जनमत संग्रह में भाग लिया था।

Source: सोशल मीडिया

न्यू कैलेडोनिया में हुआ जनमत संग्रह संयुक्त राष्ट्र संघ की निगरानी में करवाया गया था। न्यू कैलेडोनिया के जनमत संग्रह के परिणामों ने एमैनुअल मैक्रों के नेतृत्व में फ्रांस की हिंद प्रशांत नीति पर मुहर लगा दी है। ध्यातव्य है कि इस क्षेत्र में चीन का प्रभाव लगातार बढ़ रहा है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
न्यू कैलेडोनिया के फ्रांस से अलग होने की प्रक्रिया वर्ष 1988 में हुई हिंसा के बाद शुरू हुई थी। वर्ष 1988 में हुई हिंसा के बाद नौमिया समझौते के तहत फ्रांस ने न्यू केलेडोनिया को व्यापक स्वायत्तता दी थी।

न्यू केलेडोनिया प्रशांत महासागर में स्थित एक द्वीपसमूह है। इसकी राजधानी नौमिया है। इस द्वीपसमूह को 19 वीं सदी में फ्रांस के शासक नेपोलियन तृतीय ने अपना उपनिवेश बनाया था यहां की आबादी 2,70,000 है। वर्तमान में यह क्षेत्र फ्रांस के अधीन आता है।

महत्वपूर्ण तथ्य
  • फ्रांस पश्चिमी यूरोप में स्थित एक महत्वपूर्ण देश है।
  • राजधानी -पेरिस
  • सबसे बड़ा शहर- पेरिस
  • राजभाषा - फ्रेंच
  • राजकीय मुद्रा - यूरो और फ्रैंक
  • राष्ट्रपति- एमैनुअल मैक्रों
  • प्रधानमंत्री- एडवर्ड फिलिप

Free E Books