the Falkland Islands dispute: क्या है फॉकलैंड द्वीप विवाद?

safalta experts Published by: Chanchal Singh Updated Sun, 20 Feb 2022 05:02 PM IST

Highlights

चीन के प्रेसिडेंट शी जिनफिंग और अर्जेंटीना के अल्बर्टों फर्नांडीज ने एक संयुक्त बयान जारी कर कहा कि चीन ‘‘माल्विनास द्वीप पर संप्रभुत्ता के पूर्ण अधिकार की अर्जेंटीना की मांग के लिए अपने समर्थन की पुष्टि करता है’’


 The Falkland Islands Dispute: र्जेंटीना की तरफ से सालों से फॉकलैंड द्वीप पर आधिपत्य का दावा किया जा रहा है। 18th century के बाद से, दक्षिण अटलांटिक महासागर में अर्जेंटीना के तट पर स्थित फ़ॉकलैंड द्वीप, हमेशा ब्रिटेन, फ्रांस, स्पेन और अर्जेंटीना द्वारा उपनिवेश और विजय के अंतरगत रहा है। 17वी सताब्दी  के पहले तक , यह द्वीप निर्जन थे, 1764 में  फ्रांस ने पहली बार 1764 में वहां एक बस्ती बसाई थी। इस पर जब ब्रिटिश अपने लिए द्वीपों का दावा करने पहुंचे, तो यहां से दोनों के बीच इस विषय पर विवाद जन्म हुआ, सामान्य ज्ञान ईबुक मुफ्त पीडीएफ: डाउनलोड करें । अर्जेंटीना में फॉकलैंड को लास मालविनास कहा जाता है। इसके साथ ही  करीब सन्1830  से ही फॉकलैंड द्वीप का समूह ब्रिटेन के पास है तो ब्रीटेन का कहना है कि जब द्वीप का समूह हमारे अधीन है तो हम इस पर क्यों बातचीत करें, और ब्रीटेन इस पर भविष्य में किसी प्रकार से कोई बातचीत नहीं करना चाहते हैं।

Source: social media

सन् 1982 इन द्वीप समूहों को लेकर  ब्रिटेन और अर्जेंटीना दोनों के बीच में युद्ध भी हुआ था। फ़ॉकलैंड द्वीप समूह का झंडा 25 जहाज़ों पर लहराता है जिसमें से अधिकतर मछली पकड़ने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं। 

इन दिनों क्यों चर्चा का विषय बना हुआ है?

चीन में आयोजित  बीजिंग विंटर ओलंपिक जैसे हाई प्रोफाइल मंच ने इस मुद्दे को एक बार फिर ताज़ा कर दिया है। इस 2022 में  ब्रिटेन और अर्जेंटीना के बीच हुए युद्ध की 40वीं सालगीरह है, इसलिए अर्जेंटीना इन द्वीपों को अपने अधीन करने के लिए क्षेत्रीय और इंटरनेशनल लेवल पर बातचीत कर रहा है जिसमें चीन अर्जेंटीना का साथ दे रहा है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
इस पर लैटिन अमेरिकी प्रकाशन टेलीसुर की एक रिपोर्ट में कहा गया कि अर्जेंटीना के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि पारलाटिनो विधायकों और मालवीना परिषद के सदस्यों और राजनयिकों ने "International community से ब्रिटिश सरकार से अंतरराष्ट्रीय कानून के प्रावधानों के अनुसार अर्जेंटीना के साथ बातचीत फिर से शुरू करने के लिए आग्रह का आह्वान किया है। 

चीन कर रहा है अर्जेंटीना का समर्थन

बीजिंग ओलंपिक के मौके पर चीन की तरफ से एक बयान सामने आया जिसमें उसने फ़ॉकलैंड द्वीप समूह को लेकर अर्जेंटीना के दावे का समर्थन किया। चीन के प्रेसिडेंट शी जिनफिंग और अर्जेंटीना के अल्बर्टों फर्नांडीज ने एक संयुक्त बयान जारी कर कहा कि चीन ‘‘माल्विनास द्वीप पर संप्रभुत्ता के पूर्ण अधिकार की अर्जेंटीना की मांग के लिए अपने समर्थन की पुष्टि करता है’’ (Reaffirms its support for Argentina's demand for full sovereignty over the Malvinas Islands)।Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करे

Free E Books