Top 10 Army in the World: दुनिया की 10 सबसे बड़ी आर्मी में भारत का क्या है स्थान, देखिए यहां

Safalta Experts Published by: Kanchan Pathak Updated Tue, 21 Jun 2022 11:32 PM IST

Top 10 Army in the World- किसी भी देश की सेना उसकी सबसे बड़ी शक्ति होती है. हालाँकि मनुष्य इस बात को जानता है कि युद्ध हमेशा विनाशकारी होता है. फिर भी किसी न किसी कारण से युद्ध हमेशा होते हीं आए हैं. कई बार तो युद्ध बिना किसी कारण के बस मनुष्य के अन्दर के हिंसक पशु द्वारा नियोजित कर दिए जाते हैं. और इस तरह कई बार ना चाहते हुए भी अपने राष्ट्र की स्वतंत्रता, अस्मिता और स्वाभिमान की सुरक्षा के लिए युद्ध लड़ने पड़ते हैं. और इस युद्ध के लिए अंततः जरुरत पड़ती है सेना की. जिस देश की सेना जितनी ताकतवर होती है आखिरकार विजयश्री उसी देश को मिलती है. पराजित देश अपना सब कुछ खो देता है. अगर आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं और विशेषज्ञ मार्गदर्शन की तलाश कर रहे हैं, तो आप हमारे जनरल अवेयरनेस ई बुक डाउनलोड कर सकते हैं  FREE GK EBook- Download Now. 
Half Yearly Current Affair 2022 (Hindi) DOWNLOAD NOW
GK Capsule Free pdf - Download here
President of India From 1950 to 2022

Source: Safalta

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email

सेना किसी भी देश की सबसे महत्वपूर्ण संपत्ति होती है. भारत भी दुनिया की सबसे बड़ी सेनाओं में से एक है. आइए जानते हैं कि दुनिया की शीर्ष 10 सेनाएँ कौन सी हैं. आकार, सैनिकों की संख्या आदि के आधार पर दुनिया की सबसे बड़ी सेनाओं को नीचे दी गई है. ये सूचियाँ दुनिया की सबसे बड़ी सेनाओं का पूरा विवरण प्रदान करती हैं. हम सबके लिए यह एक बेहद गर्व की बात है कि इन सभी सूचियों में प्रत्येक में भारत अपना एक आदर्श स्थान बरकरार रखता है. आइए तालिका में देखें -


दुनिया की 10 सबसे बड़ी आर्मी - एक्टिव ड्यूटी (सक्रिय-ड्यूटी) और रिजर्व मिलिट्री पर्सनेल (रिजर्व सैन्य कर्मियों) की उच्चतम संख्या के आधार पर दुनिया की शीर्ष 10 सेनाओं की सूची निम्नलिखित है -

Top 10 Army in the World (दुनिया की 10 सबसे बड़ी आर्मी)

1. अमेरिका (यूनाइटेड स्टेट्स)
  • बजट: $601 बिलियन
  • सक्रिय फ्रंटलाइन पर्सनेल - 1,400,000
  • टैंक - 8,848
  • कुल विमान - 13,892
  • पनडुब्बी - 72
अन्य खर्च में कटौती के बावजूद, संयुक्त राज्य अमेरिका क्रेडिट सुइस की अनुक्रमणिका पर संयुक्त रूप से अगले नौ देशों की तुलना में रक्षा पर सबसे अधिक पैसा ($ 601 बिलियन) खर्च करता है. अमेरिका का सबसे बड़ा पारंपरिक सैन्य लाभ 10 विमानवाहक पोतों का बेड़ा है. इसकी तुलना में भारत, जो अपने तीसरे कैरियर का निर्माण कर रहा है, के पास दुनिया में दूसरा सबसे अधिक कैरियर है. परमाणु शस्त्रागार की बात छोड़ भी दें तो अमेरिका के पास दुनिया के सभी देशों की तुलना में सबसे अधिक विमान, नौसेना की नई रेल गन जैसी अत्याधुनिक तकनीक, एक बड़ी और अच्छी प्रकार से प्रशिक्षित मानव बल (human force) है.

2. रूस -
  • बजट: $84.5 बिलियन
  • सक्रिय फ्रंटलाइन पर्सनेल - 766,055
  • टैंक - 15,398
  • कुल विमान - 3,429
  • पनडुब्बियां - 55
रूसी सशस्त्र बल निर्विवाद रूप से दुनिया की दूसरी सबसे मजबूत सैन्य शक्ति है. रूस के पास दुनिया का सबसे बड़ा टैंक बेड़ा है. इसके पास अमेरिका के बाद दूसरा सबसे बड़ा विमान बेड़ा है. और इसके पास अमेरिका और चीन के बाद तीसरा सबसे बड़ा पनडुब्बी बेड़ा है. क्रेमलिन के सैन्य खर्च में 2008 के बाद से लगभग एक तिहाई की वृद्धि हुई है और अगले तीन वर्षों में इसके 44% अधिक बढ़ने की उम्मीद है. रूस ने सीरिया में सैनिकों की तैनाती के साथ विदेशों में भी फ़ोर्स प्रोजेक्ट करने की अपनी क्षमता का प्रदर्शन किया है.
 
Quicker Tricky Reasoning E-Book- Download Now
Quicker Tricky Maths E-Book- Download Now


3. चाइना -
  • बजट: $216 बिलियन
  • सक्रिय फ्रंटलाइन पर्सनेल - 2,333,000
  • टैंक - 9,150
  • कुल विमान - 2,860
  • पनडुब्बी - 67
चीनी सेना पिछले कुछ दशकों में आकार और क्षमता दोनों के हीं मामले में बड़ी तेजी से बढ़ा है. जनशक्ति के मामले में, यह दुनिया की सबसे बड़ी सेना है. इसके पास रूस के बाद दूसरा सबसे बड़ा टैंक बेड़ा और अमेरिका के बाद दूसरा सबसे बड़ा पनडुब्बी बेड़ा है. चीन ने अपने सैन्य आधुनिकीकरण कार्यक्रम में भी तेजी से प्रगति की है, फिलवक्त वह बैलिस्टिक मिसाइलों और फिफ्थ जनरेशन एयरक्राफ्ट सहित संभावित गेम चेंजिंग मिलिट्री टेक्नोलॉजी की एक श्रृंखला विकसित कर रहा है.

4. जापान -
  • बजट - $41.6 बिलियन
  • एक्टिव फ्रंटलाइन पर्सनेल - 247,173
  • टैंक - 678
  • कुल विमान - 1,613
  • पनडुब्बियां - 16
असंदिग्ध रूप से, जापान की सेना अपेक्षाकृत कुछ छोटी है. बावजूद, जापान नवीनतम तकनीक से व्यवस्थित और अच्छी प्रकार से सुसज्जित देश है. क्रेडिट सुइस के अनुसार, जापान के पास अमेरिका, रूस और चीन के बाद सूची में चौथा सबसे बड़ा पनडुब्बी बेड़ा है. जापान के पास चार विमानवाहक पोत हैं. हालांकि ये जहाज केवल हेलीकॉप्टर बेड़े से लैस हैं. जापान के पास चीन, रूस और अमेरिका के बाद चौथा सबसे बड़ा अटैक हेलिकॉप्टर बेड़ा भी है.

5. भारत -
  • बजट - $50 बिलियन
  • एक्टिव फ्रंटलाइन पर्सनेल - 1,325,000
  • टैंक - 6,464
  • कुल विमान - 1,905
  • पनडुब्बियां - 15
भारत दुनिया की सबसे बड़ी सैन्य शक्तियों में से एक है. भारत के पास अमेरिका, चीन या रूस के अलावा किसी भी देश की तुलना में सबसे अधिक टैंक और विमान हैं. इसके अलावा चीन और अमेरिका को छोड़कर भारत के पास दुनिया के किसी भी देश की तुलना में सबसे सक्रिय जनशक्ति है. भारत के पास परमाणु हथियार भी हैं. जल्द हीं भारत के दुनिया में चौथे सबसे अधिक सैन्य खर्च करने वाला देश बनने की उम्मीद है.
 
सामान्य हिंदी ई-बुक -  फ्री  डाउनलोड करें  
पर्यावरण ई-बुक - फ्री  डाउनलोड करें  
खेल ई-बुक - फ्री  डाउनलोड करें  
साइंस ई-बुक -  फ्री  डाउनलोड करें  
अर्थव्यवस्था ई-बुक -  फ्री  डाउनलोड करें  
भारतीय इतिहास ई-बुक -  फ्री  डाउनलोड करें  


6. फ़्रांस -
  • बजट - $62.3 बिलियन
  • एक्टिव फ्रंटलाइन पर्सनेल - 202,761
  • टैंक - 423
  • कुल विमान - 1,264
  • पनडुब्बियां - 10
फ्रांसीसी सेना अपेक्षाकृत कुछ छोटी लेकिन उच्च स्तर पर प्रशिक्षित, प्रोफेशनल और फ़ोर्स प्रोजेक्शन में अच्छी तरह सक्षम है. देश में नया विमानवाहक पोत चार्ल्स डी गॉल है. फ्रांस नियमित रूप से सरकारों को स्थिर करने और उग्रवाद के खिलाफ लड़ने में मदद करने के लिए पूरे अफ्रीका में सैन्य तैनाती में संलग्न रहता है.

7. दक्षिण कोरिया -
  • बजट - $62.3 बिलियन
  • एक्टिव फ्रंटलाइन पर्सनेल - 624,465
  • टैंक - 2,381
  • कुल विमान - 1,412
  • पनडुब्बियां - 13
दक्षिण कोरिया के पास उत्तर कोरिया के संभावित आक्रमण का सामना करने के लिए एक बड़ी और सक्षम सेना रखने के सिवाय ज्यादा कोई विकल्प नहीं बचता है. इस तरह के खतरे को ध्यान में रखते हुए, दक्षिण कोरिया के पास कई पनडुब्बियां, हमले के हेलीकॉप्टर और एक्टिव फ्रंटलाइन पर्सनेल आदि मौजूद है. इस देश के पास कई सारे टैंक और दुनिया की छठी सबसे बड़ी वायु सेना भी है.

8. इटली -
  • बजट - $34 बिलियन
  • एक्टिव फ्रंटलाइन पर्सनेल - 320,000
  • टैंक - 586
  • कुल विमान - 760
  • पनडुब्बियां - 6
इटली के पास दो सक्रिय विमानवाहक पोत होने के कारण इतालवी सेना ने क्रेडिट सुइस की रिपोर्ट पर अत्यधिक ध्यान दिया है. देश ने अपेक्षाकृत बड़ी पनडुब्बी और हमले के हेलीकॉप्टर बेड़े के अलावा, इन विमान वाहकों की रैंकिंग में भारी वृद्धि की है.

9. यूनाइटेड किंगडम (ब्रिटेन)
  • बजट - $60.5 बिलियन
  • एक्टिव फ्रंटलाइन पर्सनेल - 146,980
  • टैंक - 407
  • कुल विमान - 936
  • पनडुब्बियां - 10
यूनाइटेड किंगडम (ब्रिटेन) के पास निर्विवाद रूप से एक सक्षम और भरोसेमंद सैन्य  शक्ति है. हालांकि यूके 2010 और 2018 के बीच अपने सशस्त्र बलों के आकार को 20% तक कम करने की योजना बना रहा था. रॉयल नेवी एचएमएस क्वीन एलिजाबेथ, एक विमानवाहक पोत, जिसके पास 4.5 एकड़ में उड़ान डेक है. जो दुनिया भर में 40 एफ -35 बी संयुक्त स्ट्राइक सेनानियों को ले जा सकता है.
 

भारत के राष्ट्रपति और उनका कार्यकाल 

भारत के सभी राष्ट्रीय उद्यान विश्व की दस सबसे लंबी नदियां
भारत के प्रधानमंत्रियों की सूची भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की सूची  India in Olympic Games


10. टर्की -
  • बजट - $18.2 बिलियन
  • एक्टिव फ्रंटलाइन पर्सनेल - 410,500
  • टैंक - 3,778
  • कुल विमान - 1,020
  • पनडुब्बियां - 13
तुर्की के पास मौजूद सशस्त्र बल पूर्वी भूमध्य सागर के सबसे बड़े सशस्त्र बलों में से एक हैं. क्रेडिट सुइस की सूची के अनुसार केवल पांच देशों में तुर्की की तुलना में अधिक पनडुब्बियां मौजूद है.
इसके अलावा, टर्की के पास एक प्रभावशाली बड़े टैंक बेड़े के साथ-साथ कई विमानों और हमले के हेलीकाप्टरों का जखीरा मौजूद है. तुर्की F-35 कार्यक्रम का एक प्रतिबद्ध सदस्य भी है.

दुनिया की शीर्ष 10 सेनाएँ - एक्टिव ड्यूटी (सक्रिय-ड्यूटी) और रिजर्व मिलिट्री पर्सनेल (रिजर्व सैन्य कर्मियों) की उच्चतम संख्या के आधार पर दुनिया की शीर्ष 10 सेनाओं की सूची 10 से 1 के क्रम में (असेन्डिंग आर्डर में) निम्नलिखित है-
 
देश कर्मचारी वर्ग या पर्सनेल
10. पकिस्तान 1,204,000
9. ब्राजील 1,706,500
8. ताईवान 1,820,000
7. उत्तर कोरिया 1,880,000
6. यूनाइटेड स्टेट्स 2,233,050
5. भारत 2,610,550
4. रशियन फेडरेशन 3,014,000
3. चाइना 3,355,000
2. दक्षिण कोरिया 3,699,000
1. वियतनाम 5,482,000
देश सक्रिय-ड्यूटी सैन्य कर्मियों की उच्चतम संख्या.
10. इजिप्ट 438,500
9. वियतनाम 482,000
8. दक्षिण कोरिया 599,000
7. ईरान 610,000
6. पाकिस्तान 654,000
5. रूस 1,014,000
4. उत्तर कोरिया 1,280,000
3. यूनाइटेड स्टेट्स 1,388,100
2. भारत 1,455,550
1. चीन 2,185,000
 

दुनिया की शीर्ष 10 सेनाएँ –

उपरोक्त तालिका में हम 10 से 1 के क्रम (असेन्डिंग आर्डर में) में देशों की सूची को देख सकते हैं जहाँ भारत का स्थान दूसरे नंबर पर आता है. सक्रिय-ड्यूटी सैन्य कर्मियों की उच्चतम संख्या के आधार पर चीन की सैन्य कर्मियों की संख्या विशाल है. इस तरह सक्रिय-ड्यूटी सैन्य कर्मियों की संख्या और शक्ति के आधार पर चीन की शक्ति सबसे बड़ी है, और चीन के बाद भारत का स्थान आता है. संयुक्त राज्य अमेरिका का स्थान भारत के बाद आता है.
 
देश संख्या (सदस्य)
10. पकिस्तान 1,495,000
9. ताईवान 1,831,800
8. ब्राजील 2,101,500
7. यूनाइटेड स्टेट्स 2,233,050
6. रूस 3,568,000
5. चाइना 4,015,000
4. भारत 5,137,500
3. दक्षिण कोरिया 6,712,500
2. उत्तर कोरिया 7,769,000
1. वियतनाम 10,522,000

दुनिया की शीर्ष 10 सेनाएँ - सैन्य कर्मियों की उच्चतम कुल संख्या -
10 से 1 (असेन्डिंग आर्डर में) के क्रम दी गई उपरोक्त इस सूची में सैन्य कर्मियों की उच्चतम कुल संख्या के आधार पर भारत इस सूची में चौथे स्थान पर आता है. यह सूची विश्व जनसंख्या समीक्षा 2022 के आंकड़ों के अनुसार दिया गया है. इस सूची में वियतनाम का स्थान सबसे ऊपर और पकिस्तान का स्थान सबसे नीचे है.
 

Free E Books