Doubt Banner

World Wide Web Day, जानिये क्या है वर्ल्ड वाइड वेब, क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड वाइड वेब दिवस

Safalta Experts Published by: Kanchan Pathak Updated Mon, 01 Aug 2022 04:12 PM IST

Highlights

आज यानि कि 1 अगस्त को “वर्ल्ड वाइड वेब दिवस” मनाया जाता है. तो आइए जानते हैं डब्लूडब्लूडब्लू या वर्ल्ड वाइड वेब के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में.
 

आज जब भी हमें किसी भी विषय से सम्बन्धित कोई भी जानकारी चाहिए होती है हम सीधा गूगल का रुख करते हैं. गूगल यानि कि सर्च इंजन. और वहां बस कुछ शब्द टाइप करने के साथ हीं चंद सेकंड का टाइम भी नहीं लगता और लाखों की संख्या में सम्बन्धित जानकारियों वाले वेबपेजेज के असंख्य पन्ने हमारे सामने उपस्थित हो जाते हैं. क्या आपको मालूम है कि हमारे बस एक क्लिक करने के साथ जो इतने व्यापक स्तर की जानकारियां हमारे सामने तुरंत प्रकट हो जाती हैं ये सब वर्ल्ड वाइड वेब के कारण संभव हो पाया है. जब भी हम इन्टरनेट पर कोई भी “यूआरएल” यानि कि “यूनिफार्म रिसोर्स लोकेटर” टाइप करते हैं तो हाइपर टेक्स्ट ट्रान्सफर प्रोटोकॉल (http) के बाद डब्लूडब्लूडब्लू (www) लिखते हैं.

Source: safalta

यही डब्लूडब्लूडब्लू है वर्ल्ड वाइड वेब जो कि 1989 में अस्तित्व में आया. यानि कि एक समय ऐसा भी था जब सारी जानकारियां हमसे सिर्फ एक क्लिक की दूरी पर नहीं हुआ करती थीं. जी हाँ! मैं बात कर रही हूँ उस समय की जब “वर्ल्ड वाइड वेब” का अविष्कार नहीं हुआ था. अगर आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं और विशेषज्ञ मार्गदर्शन की तलाश कर रहे हैं, तो आप हमारे जनरल अवेयरनेस ई बुक डाउनलोड कर सकते हैं  FREE GK EBook- Download Now. / Advance GK Ebook-Free Download
July Month Current Affairs Magazine DOWNLOAD NOW 


“वर्ल्ड वाइड वेब” जिसे हमलोग “डब्लूडब्लूडब्लू” या “वेब” के नाम से भी जानते हैं, वेबसाइट्स का एक संग्रह है जो कि इन्टरनेट के माध्यम से लोकल कंप्यूटरों से जुड़ा होता है.

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
डब्लूडब्लूडब्लू या वर्ल्ड वाइड वेब हीं वह माध्यम है जिससे इन्टरनेट के द्वारा पूरे विश्व की हर तरह की जानकारी हमें अपने डेस्कटॉप, लैपटॉप या मोबाइल फ़ोन की स्क्रीन पर बस एक क्लिक करके हीं प्राप्त हो जाती है. आज यानि कि 1 अगस्त को “वर्ल्ड वाइड वेब दिवस” मनाया जाता है. तो आइए जानते हैं डब्लूडब्लूडब्लू या वर्ल्ड वाइड वेब के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में.
 

Sardar Udham Singh Martyrdom Day, सरदार ऊधम सिंह के शहादत दिवस पर जानिए उनकी पूरी दास्तान

What is Commonwealth Games Queen's Baton : कॉमनवेल्थ गेम्स क्वीन्स बैटन रिले

What is United Nations Peacekeeping Force : जानिए क्या है संयुक्त राष्ट्र शांति सेना ?

 

1989 में हुआ था वर्ल्ड वाइड वेब का अविष्कार

इंग्लिश कंप्यूटर साइंटिस्ट टिम बर्नर्स ली ने सन् 1989 में वर्ल्ड वाइड वेब का अविष्कार किया था. इसे विकसित करने की मुख्य वजह संस्थानों और विश्विद्यालयों के मध्य जानकारी साझा करने के लिए एक प्लेटफार्म उपलब्ध कराना. टिम बर्नर्स ली ने मात्र 21 वर्ष की अल्पायु में खुद हीं अपने लिए एक छोटा सा कंप्यूटर सेट बना लिया था. इसके बाद उनके मस्तिष्क में डब्लूडब्लूडब्लू यानि कि वर्ल्ड वाइड वेब बनाने का विचार कौंधा. तभी ली एक सॉफ्टवेर कंपनी में बतौर इंजीनियर काम कर रहे थे. इस कंपनी में काम करने के दौरान हीं ली ने एक प्रोग्राम तैयार किया था जो कि कंप्यूटर में उपस्थित सभी फाइलों को आपस में जोड़ने का काम करता था. इस प्रोग्राम का नाम उन्होंने “इनक्वायर” रखा था. इस कार्य में सफल होने के बाद ली ने सोचा कि जिस तरह उन्होंने एक कंप्यूटर की सभी फाइलों को जोड़ने वाला प्रोग्राम तैयार किया है वैसे हीं वो एक और प्रोग्राम तैयार करेंगे, लेकिन इस बार वह प्रोग्राम “इनक्वायर” की तरह सिर्फ एक कंप्यूटर तक सीमित नहीं होगा, बल्कि यह वैश्विक स्तर पर सभी कंप्यूटरों को एक सूचना तंत्र से जोड़ेगा.
टिम बर्नर्स ली को अपने इस उद्देश्य को पूरा करने में सफलता मिली. उन्होंने इन्टरनेट के माध्यम से वैश्विक स्तर पर सभी कंप्यूटरों को एक व्यापक सूचना तंत्र से जोड़ दिया. इस तरह इन्टरनेट पर डब्लूडब्लूडब्लू के उपयोग की शुरुआत हुई. ली की इस रचनात्मकता का सम्मान करने के लिए हर वर्ष 1 अगस्त को “वर्ल्ड वाइड वेब दिवस” मनाया जाने लगा.           
 

Free E Books