user image

Arya Maurya

UP Board 10th Class 2021 (For Hindi Medium Students)
Extra Session Science
2 years ago

user image

SUNDARAM SINGH

2 years ago

परिसंचरण तंत्र, "बन्द परिसंचरण तंत्र" होता है (इसका मतलब है कि रक्त कभी भी धमनियों, शिराओं, एवं केशिकाओं के जाल से बाहर नहीं जाता)। अकशेरुकों के परिसंचरण तंत्र, 'खुले परिसंचरण तंत्र' हैं।

user image

SUNDARAM SINGH

2 years ago

परासरण को रोकने के लिये लिये आवश्यक वाह्य दाब की मात्रा को परासरण दाब ( ऑस्मोटिक प्रेशर) कहते हैं। ... किसी भी विलयन का परासरण दाब विलायक में उपस्थित विलेय के अणुओं की सांद्रता के सीधे समानुपाती होता है।

user image

SUNDARAM SINGH

2 years ago

मानव ह्रदय की क्रियाविधि : हृदय ही शरीर के विभिन्न भागों से रुधिर को ग्रहण भी करता हैं। हृदय शरीर में रुधिर को पम्प करने का कार्य करता है। इस कार्य के लिए हृदय हर समय सिकुड़ता तथा शिथिल होता रहता है। हृदय के सिकुड़ने को प्रकुंचन (सिस्टोल) तथा शिथिल होने को अनुशिथिलन (डायस्टोल) कहते हैं।

user image

Aditya Yadav

2 years ago

kaun sa

user image

Aditya Yadav

2 years ago

question

user image

Aditya Yadav

2 years ago

puchhna chahte ho

user image

Abhi DubeY

2 years ago

question

user image

Abhi DubeY

2 years ago

mark kr dia kro

user image

Abhi DubeY

2 years ago

kuch bhi clear ni hota

user image

Vaibhav Bhai

2 years ago

ह्रदय की क्रियाविधि ------ हृदय ही शरीर के विभिन्न भागों से रुधिर को ग्रहण भी करता हैं।

user image

Vaibhav Bhai

2 years ago

ask one by one

user image

Aditya Yadav

2 years ago

isme se kaun sa question solve karna hai

Recent Doubts

Close [x]