Download Safalta App
for better learning

Download
Safalta App

X
Whatsup

भारत का वैदिक काल

Safalta Experts Published by: Blog Safalta Updated Thu, 02 Sep 2021 11:41 AM IST

भारत का वैदिक काल

ऋग्वैदिक काल (1500-1000 ई.पू)

  • अनेक परिवारों को मिलकर ग्राम बनता था, जिसका प्रधान ग्रामीण कहलाता था तथा अनेक ग्रामों को मिलाकर विश बनता था, जिसका प्रधान विशपति होता था।
  • अनेक विशों का समूह जन या कबीला कहलाता था जिसका प्रधान राजा/राजन या गोप होता था।
  • परिवार पितृसत्तात्मक का समूह था तथा वर्ण व्यवस्था कर्म पर आधारित थी।
  • सोम आयों का मुख्य पेय पदार्थ था, जौ (यव) खाघ वदार्थ था।
  • आर्य बहुदेववादी होते हुए भी एकेश्वरवाद में विश्वास करते थे।
  • देवताओं में सर्वोच्च स्थान इंद्र व उसके उपरान्त अग्नि व वरुण को दिया गया था।
General Knowledge Ebook Free PDF: डाउनलोड करें
Source: DAILYHUNT



Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करें
 

उत्तरवैदिक काल

  • उत्तवैदिक काल में यज्ञीय कर्मकाण्डों में जटिलता एंव भव्यता आ गई थी।
  • यज्ञ विधान का प्रचलन उत्तवैदिक काल में हुआ। यह राज्यभिषेक से सम्बन्धित था। इस यज्ञ के दौरान राजा पत्नियों के घर जाता था।

                   गृहस्थों के द्वारा अयोजित पंच महायज्ञ

क्र. यज्ञ विधान
1. ब्रहा यज्ञ प्राचीन ऋषि के प्रति  कृतज्ञता
2. देव यज्ञ देवताओं की पूजा
3. पितृ यज्ञ पितरों का तपर्ण
4. नृ यज्ञ अतिथि सत्कार
5. भूत यज्ञ समस्त जीवों के प्रति कृतज्ञता
  • अश्वमेघ यज्ञ शक्ति का घोतक था।
  • वाजपेय यज्ञ में राजा रथों की दौड़ का आयोग करता था। यह यज्ञ खान -पान से सम्बन्धित  यज्ञ था
  • अग्निष्टेम यज्ञ मैं अग्नि को पशुबली की दी जाति थी।
  • पूषण ऋग्वैदिक काल में पाशुओं के देवता थे जो उत्तरवैदिक कल में शूद्रों के देवता हो गये।
  • उत्तरवैदिक काल में इंद्र के स्थान प्रति प्रजापति सर्वाधिक प्रिय देवता हो गये।
  • उत्तर वैदिक काल में प्रजापति सृष्टि के रचिता, विष्णु विश्व के रक्षक एंव पूषण शूद्रों का देवता है।
  • अथर्ववेद के अनुसर "राष्ट्र राज्य के हाथों में हो तथा राजा और देवता मिलकर उसे सुद्रन बनाएँ"


 

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree