Daily Top  Current Affairs: यहां 17 November  के करेंट अफेयर्स हिंदी में पढ़ें

safalta expert Published by: Chanchal Singh Updated Thu, 17 Nov 2022 05:45 PM IST

Daily Top  Current Affairs: अगर आप भी किसी प्रकार के प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, तो आपके लिए यह लेख बहुत ही महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। इसमें हम आज आपके लिए लाए हैं राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय स्तर के करंट अफेयर। आपके प्रतियोगी परीक्षा के लिए लाभदायक हो सकता है। इस लेख का एक मात्र उद्देश्य यह है कि इस लेख से ज्यादा से ज्यादा प्रतियोगी परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे छात्रों की सहायता करना है। आज के प्रमुख करंट अफेयर के विषय में पढ़ने के लिए नीचे स्क्रोल कीजिए।
 

विक्रम एस भारत के पहला प्राइवेट रॉकेट के बारे में जाने विस्तार से


विक्रम एस भारत के प्राइवेट सेक्टर का बनाया गया पहला रॉकेट विक्रम एस अब लांच होने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

Source: safalta

इस रॉकेट की लॉन्चिंग टाइम 18 नवंबर को सुबह 11:30 बजे आंध्रप्रदेश श्रीहरिकोटा से किया जाएगा। इस प्राइवेट रॉकेट को हैदराबाद के कंपनी स्काई रूट एयरोस्पेस द्वारा बनाई गई है, जिसमें 3 कंज्यूमर पेलोड होंगे। इस रॉकेट मिशन का नाम मिशन प्रारंभ रखा गया है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
Something went wrong!
Download App & Start Learning
इसरो ने इस मिशन को लॉन्च करने के लिए स्काई रूट एयरोस्पेस को 12 नवंबर से 16 नवंबर तक का विंडो दिया था लेकिन  खराब मौसम के चलते इसे 18 नवंबर को लांच किया जाएगा। यह पहली बार होगा कि इसरो किसी प्राइवेट कंपनी का मिशन अपने लॉन्चिंग पैड से करवाएगा।  

अंतरिक्ष जिज्ञासा क्या है जाने विस्तार से


स्पेस साइंस में करियर बनाने वाले एवं इस क्षेत्र में दिलचस्पी रखने वाले छात्रों के लिए इसरो ने एक नया और खास कदम उठाया गया है जिसके तहत अब बच्चों को अंतरिक्ष से जुड़ी अपनी जिज्ञासाओं और जानकारी के लिए ऑनलाइन कोर्स करने का अवसर मिलेगा। इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन इसरो ने एक्टिव पार्टिसिपेशन और सक्रिय रूप से सीखने और अंतरिक्ष विज्ञान प्रौद्योगिकी इंजीनियरिंग और गणित (एसटीईएम- STEM) के लिए एक नॉलेज पोर्टल अंतरिक्ष जिज्ञासा (knowledge portal Antriksh Jigyasa) को लॉन्च किया है। इसरो ISRO का यह अंतरिक्ष जिज्ञासा वर्चुअल प्लेटफार्म अंतरिक्ष विज्ञान प्रौद्योगिकी और एप्लीकेशन के माध्यम से छात्रों की सेल्फ लर्निंग स्पीड के आधार पर ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध करवाता है।


Motivational Book List , टॉप 14 मोटिवेशनल बुक्स की लिस्ट हिंदी में


आज के बीजी लाइफ स्टाइल में लोग किसी ना किसी स्ट्रगल से जूझ रहे हैं, कोई पढ़ाई से तो कोई करियर के लिए तो कोई और निजी समस्या से, ऐसे में जीवन में हार नहीं मानने के लिए मोटिवेट और इंस्पायरर होने की आवश्यकता है, जो हमारे जीवन में आगे बढ़ने में मदद करता है। ऐसे में इंस्पायरर और मोटिवेट होने के लिए या तो हम किसी अच्छे स्पीकर की बात सुन सकते हैं या फिर हम Motivational Book  बुक्स की सहायता ले सकते हैं जिसमें मोटिवेट और इंस्पायर करने के लिए बातें लिखी हो, ऐसे में आज हम आपके लिए ऐसे मोटिवेशनल बुक्स की लिस्ट लेकर आए हैं, जिससे सक्सेसफुल लेखकों ने लिखी है, इन किताबों में लोगों को इंस्पायर और मोटिवेट करने के लिए अच्छी-अच्छी बातें लिखी हुई है। आइए जानते हैं इन  Motivational Book किताबों के बारे में-


द्रौपदी मुर्मू के जीवन परिचय, शिक्षा, राजनीतिक करियर के बारे में विस्तार से


द्रौपदी मुर्मू भारत की 15वीं राष्ट्रपति बन गई हैं, एनडीए के साथ-साथ देश के अलग पॉलिटिकल पार्टियों से समर्थन मिलने के बाद उन्होंने 21 जुलाई को जारी राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों में जीत हासिल की है। अपनी इस ऐतिहासिक जीत के बाद द्रौपदी मुर्मू जी भारत की दूसरी और पहली ट्राइबल महिला राष्ट्रपति बन गई है। द्रौपदी मुर्मू जी की उम्र 64 साल है और वह उड़ीसा की रहने वाली है। उनके राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके घर जाकर उड़ीसा में उनको नए राष्ट्रपति बनने की बधाइयां दी है और साथ ही प्रधानमंत्री के पूरी केंद्रीय कैबिनेट मिनिस्ट्री भी नए राष्ट्रपति के घर जाकर उनको बधाइयां दी है। चलिए जानते हैं एनडीए द्वारा प्रस्तावित राष्ट्रपति कैंडिडेट श्रीमती द्रौपदी मुर्मू के बारे में विस्तार से

Kashi Tamil Sangamam, काशी तमिल संगमम क्या है, जानें विस्तार से


केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से अगले महीने काशी तमिल संगमम का आयोजन किया जाएगा।  काशी तमिल संगमम 1 महीने तक चलने वाला वह कार्यक्रम है  काशी तमिल संगमम का उद्देश्य वाराणसी और तमिलनाडु के बीच ज्ञान और प्राचीन सभ्यता, संबंधों के सदियों पुराने बंधन को फिर से खोजना है और संस्कृति का आदान प्रदान करना है।  भारतीय भाषा समिति के अध्यक्ष एवं कार्यक्रम के अध्यक्ष आयोजक पंडित कृष्ण चमू शास्त्री ने यह बताया है कि इस कार्यक्रम में तमिल के लोग पूरे 1 महीने तक काशी में रहकर सभी कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। काशी के लोग तमिलनाडु को एग्जीबिशन में देखेंगे। काशी तमिल संगम भारत के इतिहास में हिंदी एवं तमिल भाषी लोगों के मेल मिलाप को बढ़ावा देने के लिए एक सबसे बड़ा महोत्सव है।

Free E Books