Daily Top Current Affairs: यहां 17August के करेंट अफेयर्स हिंदी में पढ़ें।

Safalta experts Published by: Chanchal Singh Updated Thu, 18 Aug 2022 11:57 AM IST

Daily Top  Current Affairs:अगर आप भी किसी प्रकार के प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, तो आपके लिए यह लेख बहुत ही महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। इसमें हम आज आपके लिए लाए हैं राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय स्तर के करंट अफेयर। जो कि आपके प्रतियोगी परीक्षा के लिए लाभदायक हो सकता है। इस लेख का एक मात्र उद्देश्य यह है कि इस लेख से ज्यादा से ज्यादा प्रतियोगी परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे छात्रों की सहायता करना है। आज के प्रमुख करंट अफेयर के विषय में पढ़ने के लिए नीचे स्क्रोल कीजिए।

Source: safalta

 हरियाणा और पंजाब में कितने न्यायाधीशों की नियुक्ति हुई है, जाने इनके बारे में विस्तार से


हरियाणा और पंजाब के हाई कोर्ट में रविवार को 11 अधिवक्ताओं को न्यायाधीश के पद के लिए प्रमोट किया गया है। इसके साथ ही इस साल विभिन्न उच्च न्यायालयों में कुल 138 नए न्यायाधीश नियुक्त किए गए हैं। कानून मंत्रालय ने एक रिपोर्ट के माध्यम से इस बात की जानकारी दी है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
उच्चतम न्यायालय कलोजियम ने 13 अधिवक्ताओं के नाम की सिफारिश की थी। जिसमें से सरकार ने 11 अधिवक्ताओं के नाम को मंजूरी दी है। हालांकि इस मंजूरी लिस्ट में एच एस बरार और सुधीर तिवारी के नाम को सरकार ने अभी तक मंजूरी नहीं दी है और यह नाम सरकार के पास अभी भी पेंडिंग लिस्ट में शामिल है।

यूके में ओमिक्रॉन वैक्सीन को मिली मंजूरी, जाने इसके बारे में विस्तार से


 विश्व में कोरोना महामारी कम होने का नाम नहीं ले रही है, वहीं इसके मरीज बढ़ते जा रहे हैं, इसके साथ ही यह कई अलग अलग वेरिएंट के साथ विश्व में उपस्थित हो रही है और अपना कहर ढा रही है, जिससे दुनिया भर के रिसर्च और वैज्ञानिक भी चिंता में डूबे हुए हैं। इस बीच कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट के खिलाफ यूके ने एक बड़ी सफलता हासिल की है। अब यूनाइटेड किंग्डम पहला देश बन गया है जिसने विशेष रूप से ओमिक्रॉन वेरिएंट के लिए एक नए टीके की मंजूरी दी है। डेली मिरर की रिपोर्ट के अनुसार इस जानकारी को पब्लिश किया गया है।
 

 जाने अटल बिहारी वाजपेयी के जीवन परिचय और पॉलिटिकल करियर के बारे में विस्तार से

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री एवं महान प्रतिभावान राजनीतिज्ञ अटल बिहारी वाजपेयी को कौन नहीं जानता है। यह अपने राजनैतिक करियर में सबसे आदर्शवादी और प्रशंसनीय राजनेता थे अटल जी जैसा प्रधानमंत्री एवं नेता होना पूरे भारत के लिए गर्व की बात है। इनके शासन कार्यकाल के दौरान इनके द्वारा किए गए कार्यों के कारण आज देश इस मुकाम पर है। अगर जवाहरलाल नेहरू के बाद कोई तीन बार प्रधानमंत्री बना है तो वह है अटल बिहारी वाजपेयी । अटल जी इकलौते राजनेता है जो चार अलग-अलग प्रदेश से सांसद चुने गए थे। यह आजादी के पहले ही राजनीति में आए थे, उन्होंने महात्मा गांधी के साथ भारत छोड़ो आंदोलन में भी भाग लिया था और कई बार जेल की याचनाएं सहि है। अटल बिहारी वाजपेयी एक कवि भी थे, जिन्होंने राजनीति पर भी अपनी कविता और व्यंग से लोगों एवं नेताओं को आश्चर्यचकित किया है। इनकी रचनाएं पब्लिश हुई है, जिन्हें लोग आज भी पढ़ते हैं। तो आइए जानते हैं अटल बिहारी वाजपेयी के जीवन परिचय के बारे में।

उत्सव जमा योजना क्या है, और इसे क्यों लागु किया गया है

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक में उत्सव जमा योजना नामक एक अनूठा सावधि जमा प्रोग्राम शुरू किया है। इस सावधि जमा योजना में उच्च ब्याज दर तय किया गया है और यह केवल सीमित समय के लिए ही उपलब्ध होगा। इस कार्यक्रम से देश की आजादी के 76 साल के अवसर पर इस योजना को पेश किया गया है। जिससे आजादी के अमृत महोत्सव के एक हिस्से के रूप में मनाया जाएगा।

  पेट्रोल पंपों में 20 परसेंट इथेनॉल मिश्रित पेट्रोल की सप्लाई कब तक होगी

भारत अगले साल अप्रैल से चुनिंदा पेट्रोल पंप पर 20 परसेंट इथेनॉल के साथ पेट्रोल की सप्लाई को शुरू कर देगा। जिसके बाद सप्लाई में तेजी लाएगा क्योंकि यह तेल आयात निर्भरता को कम करने और पर्यावरणीय मुद्दे को हल करने के लिए लाया गया है। पेट्रोल 20% इथेनॉल के साथ मिलाकर इथेनॉल और पेट्रोल को एक साथ मिलाकर पेट्रोल पंप में सप्लाई किए जाएगा। कुछ मात्रा में अप्रैल 2023 से कुछ पेट्रोल पंप संस्थानों में यह पेट्रोल उपलब्ध होगा बाकी 2025 तक सभी पेट्रोल पंप में कवर किया जाएगा उपलब्धियां इस साल जून में तय सीमा से पहले ही 10 परसेंट एथेनॉल के साथ मिश्रित पेट्रोल की सप्लाई का लक्ष्य हासिल करने वाले भारत ने 20 परसेंट एथेनॉल के साथ पेट्रोल बनाने के लक्ष्य को 5 साल 2025 तक बढ़ा दिया है।
 

अनुप्रति कोचिंग योजना क्या है, जिसे राजस्थान में लागु किया गया है

 फाइनेंसियल इयर 2022- 2023 में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अनुप्रति कोचिंग योजना प्रोवाइड करने के लिए 17करोड़ से अधिक खर्च कर मेधावी छात्रों के लिए योजना बनाई है। इस योजना के अंतर्गत छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए निशुल्क कोचिंग सेवा प्रदान की जाएगी। इस फाइनेंसियल ईयर के लिए बजट परिव्यय 2021-22 में 3.5 करोड़ रुपए की तुलना में अधिक की गई है।

Free E Books