Ten Most Expensive Schools in India:भारत के इन 10 सबसे महंगे स्कूलों की फीस सुनकर आपके उड़ जाएंगे होश

Safalta Experts Published by: Kanchan Pathak Updated Sat, 30 Apr 2022 01:25 PM IST

भारत के 10 सबसे महंगे स्कूल - निरक्षरता अभिशाप के समान है. बिना शिक्षा का जीवन असभ्य, अशिक्षित और भाव, विचार, व्यवहार के विपरीत माना गया है. इसलिए दुनिया के हर माता-पिता का सपना होता है कि वे अपने बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा दिला सकें. भारत में कई स्कूल ऐसे हैं जो भव्य और आलिशान होने के साथ साथ छात्रों को सर्वश्रेष्ठ स्तर की शिक्षा भी प्रदान कर रहे हैं. परन्तु बढ़ती प्रतिस्पर्धा के समय में अभिभावकों के लिए यह तय करना बहुत मुश्किल हो जाता है कि हमारे बच्चों के लिए कौन सा स्कूल सबसे बेहतर होगा, हम अपने बच्चों के लिए कौन सा स्कूल चुने जो उसके व्यक्तित्व को सर्वोत्तम निखार दे सके और सबसे बढ़ कर यह बात कि क्या हम उस स्कूल की फीस को अफोर्ड भी कर सकते हैं ? आपके इन्हीं सवालों को ध्यान में रखते हुए आज का हमारा ये आर्टिकल भारत के कुछ सबसे महंगे स्कूलों के नाम, तथा उनकी वार्षिक शुल्क संरचना का विवरण लेकर आया है. इसी के साथ आपकी जानकारी के लिए हम सम्बंधित स्कूलों के कुछ प्रसिद्ध पूर्व छात्रों के नामों का जिक्र भी करने जा रहे हैं. हालाँकि इनमें से कुछ स्कूल इतने महंगे हैं कि एक आम आदमी के लिए इन स्कूलों में अपने बच्चे को पढ़ाना संभव हीं नहीं है. तथापि ये स्कूल बच्चों को उच्च स्तर की सुविधाएँ प्रदान करते हैं और इन्हें देश के शीर्ष स्कूलों के रूप में नामित किया गया है. तो आईए एक नज़र डालते हैं भारत के 10 सबसे महंगे स्कूलों पर - अगर आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं और विशेषज्ञ मार्गदर्शन की तलाश कर रहे हैं, तो आप हमारे जनरल अवेयरनेस ई बुक डाउनलोड कर सकते हैं  FREE GK EBook- Download Now.
April Month Current Affairs Magazine DOWNLOAD NOW  
 

Ten Most Expensive Schools in India (भारत के 10 सबसे महंगे स्कूल)

10. बिशप कॉटन स्कूल, शिमला

Source: Safalta

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email

बिशप कॉटन स्कूल हिमाचल प्रदेश में पहाड़ों की रानी कहे जाने वाले शिमला में स्थित है. यह स्कूल पूरे एशिया में लड़कों के लिए सबसे पुराने बोर्डिंग स्कूलों में से एक है. बिशप कॉटन स्कूल की स्थापना 1859 में शिमला में बिशप जॉर्ज एडवर्ड लिंच कॉटन के द्वारा की गई थी. यहां अध्ययन करने वाले पूर्व छात्रों की सूची में प्रसिद्ध लेखक रस्किन बॉन्ड, मंत्री विभुद्र सिंह, अभिनेता कुमार गौरव, गोल्फर जीव मिल्खा सिंह और ललित मोदी आदि शामिल हैं.

फीस -
बिशप कॉटन स्कूल, शिमला की फीस 4,10,000/- रुपये से लेकर 4,80,000/- रुपये तक है.

9. बिड़ला पब्लिक स्कूल, पिलानी

बिड़ला पब्लिक स्कूल को विद्या निकेतन के नाम से भी जाना जाता है. यह भारत में राजस्थान के पिलानी में स्थित है. यह लड़कों के लिए एक आवासीय विद्यालय है. इस स्कूल की स्थापना वर्ष 1944 में हुई थी. इस स्कूल को जूनियर सेक्शन, मिडिल सेक्शन और सीनियर सेक्शन के तहत तीन खंडों में विभाजित किया गया है. स्कूल के पूर्व छात्रों में जनरल विजय कुमार सिंह, पूर्व सेना प्रमुख (भारत), विनोद राय, भारत के पूर्व नियंत्रक और महालेखा परीक्षक तथा मदरसन के संस्थापक विवेक चंद सहगल शामिल हैं.

फीस -
बिड़ला पब्लिक स्कूल की कक्षा 3 से 10वीं तक की फीस करीबन 2,89,200/- रुपये और 10वीं से 12वीं तक करीब 3,19,200/- रुपये है. दाखिले के समय के अन्य खर्च अलग हैं.
 

Free Daily Current Affair Quiz-Attempt Now

Hindi Vyakaran E-Book-Download Now

Polity E-Book-Download Now

Sports E-book-Download Now

Science E-book-Download Now



8. स्टोनहिल इंटरनेशनल स्कूल, बैंगलोर

स्टोनहिल इंटरनेशनल स्कूल बैंगलोर में केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास 34 एकड़ के विशाल परिसर में फैला हुआ है. यह स्कूल एम्बेसी ग्रुप के भीतर स्टोनहिल एजुकेशन फाउंडेशन द्वारा संचालित है. यह स्कूल काउंसिल ऑफ इंटरनेशनल स्कूल्स और न्यू इंग्लैंड एसोसिएशन ऑफ स्कूल्स एंड कॉलेज द्वारा मान्यता प्राप्त है. स्टोनहिल इंटरनेशनल स्कूल भारत में इंटरनेशनल स्कूल्स एसोसिएशन, ईस्ट एशिया रीजनल काउंसिल ऑफ स्कूल्स और ऑस्ट्रेलियन बोर्डिंग स्कूल्स एसोसिएशन का सदस्य भी है.

फीस -
स्टोनहिल इंटरनेशनल स्कूल में अंतरराष्ट्रीय छात्रों की फीस 9,00,000/- रुपये सालाना है.

7. गुड शेफर्ड इंटरनेशनल स्कूल, ऊटी

गुड शेफर्ड इंटरनेशनल स्कूल  भारत में तमिलनाडु के ऊटी में स्थित है. यह स्कूल यह नीलगिरी हिल्स में 70 एकड़ की वृहद् भूमि में फैला हुआ है. गुड शेफर्ड इंटरनेशनल स्कूल एक पूर्णकालिक आवासीय स्कूल है. इस स्कूल की स्थापना 1977 में हुयी थी. यह स्कूल अपनी शैक्षणिक प्रक्रियाओं के लिए बहुत प्रसिद्ध है और इसके लिए इसे एजुकेशन वर्ल्ड इंडिया स्कूल रैंकिंग में शीर्ष रैंक का दर्जा मिला हुआ है. गुड शेफर्ड इंटरनेशनल स्कूल ऊटी, आईबी बोर्ड, कैम्ब्रिज असेसमेंट इंटरनेशनल एजुकेशन, सीआईएससीई द्वारा मान्यता प्राप्त है. इसमें कक्षाएं, प्रयोगशाला, दो व्याख्यान थिएटर, दो इनडोर खेल परिसर मैदान, राइफल रेंज, टेनिस, गोल्फ, वॉलीबॉल, बास्केटबॉल, स्क्वैश, हॉकी, क्रिकेट और एसोसिएशन फुटबॉल के लिए कोर्ट आदि हैं.

फीस - गुड शेफर्ड इंटरनेशनल स्कूल की ट्यूशन फीस 6.10-15/- लाख रुपये है.

6. वुडस्टॉक स्कूल, मसूरी -

वुडस्टॉक स्कूल मसूरी में स्थित है. एक बहुत पुराना स्कूल है. जो आजादी के बाद से हीं चल रहा है. इस स्कूल में ईसाई धर्म की पढ़ाई होती है. यह भारत का सबसे महंगा स्कूल है. यहाँ पढ़ने के लिए छात्रों को न्यूनतम 16 लाख रुपये का भुगतान करना पड़ता है. इसके अलावा यहाँ प्रवेश के समय छात्रों को ₹ 4 लाख (गैर-वापसी योग्य) और ₹ 2 लाख (वापसी योग्य) सुरक्षा शुल्क भी जमा करना पड़ता है. यह स्कूल कम से कम 250 एकड़ भूमि पर बना हुआ है. यहाँ छात्र छात्रओं को साथ-साथ पढ़ाई करने की सुविधा है. वुडस्टॉक स्कूल के पूर्व छात्रों में अभिनेता टॉम ऑल्टर जैसी कई प्रसिद्ध हस्तियाँ शामिल है.

फीस -
6 से 10 तक के ग्रेड के लिए फीस लगभग 16,00,000/- रुपये है जबकि ग्रेड 10 से 12 के लिए स्कूल की फीस 17,65,000/- रुपये है.
 
List of books written by PM Modi Books written by APJ Abdul Kalam


5. वेल्हम बॉयज स्कूल, देहरादून

वेल्हम बॉयज़ स्कूल, देहरादून में हिमालय की तलहटी में स्थित है. इस स्कूल का परिसर 30 एकड़ के  वृहद् क्षेत्र में फैला हुआ है. यह लड़कों के लिए एक प्रतिष्ठित आवासीय विद्यालय है. यह स्कूल सीबीएसई से संबद्ध बोर्ड स्कूल है. यहां छात्रों को प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी पड़ती है. एक साल के लिए सभी नए छात्रों को 'प्रोबेशन पीरियड' पर रखा जाता है. इस पीरियड में कोई छात्र अगर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाता तो उन छात्रों का प्रवेश रद्द कर दिया जाता है. वेल्हम बॉयज के पूर्व छात्रों में राजीव गांधी, मणिशंकर अय्यर, नवीन पटनायक, संजय गांधी, विक्रम सेठ, कैप्टन अमरिंदर सिंह, नवाब मंसूर अली खान पटौदी, जायद खान आदि शामिल हैं.

फीस -
वेल्हम बॉयज स्कूल, देहरादून की सालाना फीस करीबन 5,70,000/- रुपये है. सालाना फीस के अलावा और दूसरे चार्ज अलग से होते हैं.

4. इकोले मोंडियाल वर्ल्ड स्कूल, मुंबई

यह स्कूल मुंबई में स्थित है. यह आईबी (इंटरनेशनल बैकलौरीएट) बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त मुंबई का पहला सबसे अच्छा स्कूल है. यहां छात्रों की सुविधाओं के सभी आधुनिक साधन उपलब्ध हैं.

फीस -
1 से 10वीं कक्षा की स्कूल फीस 9,90,000/- रुपये और 11वीं से 12वीं तक 10,90,000/- रुपये है.
 
Government Scholarship in UP Government Scholarships in Bihar
Government Scholarship in Rajasthan Government scholarship in MP
Government Scholarship in Haryana Government Scholarship in Delhi


3. मेयो कॉलेज, अजमेर

मेयो कॉलेज भारत में राजस्थान के अजमेर शहर में अरावली हिल्स के बीच में स्थित है. यह यहाँ पर लड़कों का एकमात्र आवासीय पब्लिक स्कूल है. इस स्कूल की  स्थापना वर्ष 1875 में छठे अर्ल रिचर्ड बॉर्के ने की थी. यह भारत के सबसे पुराने सार्वजनिक बोर्डिंग स्कूलों में से भी एक है. इस स्कूल में छात्रों को घुड़सवारी, स्क्वैश और कई अन्य खेल गतिविधियों के लिए प्रोत्साहित किया जाता है. मेयो स्कूल में 9 होल गोल्फ कोर्स, पोलो ग्राउंड, घुड़सवारी, घुड़सवारी के लिए 50 घोड़ों के अस्तबल, और एक अच्छी तरह से सुसज्जित 10 मीटर का एयर राइफल शूटिंग रेंज है. 1986 में भारतीय डाक सेवा ने मेयो कॉलेज के मुख्य भवन की तस्वीर वाली एक डाक टिकट भी जारी किया था.
यहाँ के प्रसिद्ध पूर्व छात्रों के नामों में अभिनेता-निर्देशक टीनू आनंद, अभिनेता विवेक ओबेरॉय, लेखक इंद्र सिन्हा और ओमान के सुल्तान जैसी कई नामचीन हस्तियों के नाम शामिल हैं.

फीस -
भारतीयों के लिए इस स्कूल की फीस 6,50,000/-रूपए और एनआरआई के लिए 13,00,000/-रूपए प्रति वर्ष (अन्य शुल्कों के साथ) है.

2. सिंधिया स्कूल, ग्वालियर -

सिंधिया स्कूल ग्वालियर के शानदार ऐतिहासिक किले में स्थित है. यह यहाँ पर लड़कों का एकमात्र बोर्डिंग स्कूल है. इसे सरदारों के स्कूल के रूप में जाना जाता है. इसे मूल रूप से शाही परिवारों के रईसों और राजकुमारों के लिए विशेष शुरू किया गया था. जो बाद में एक पब्लिक स्कूल में विकसित हुआ. सिंधिया स्कूल की स्थापना वर्ष 1897 में स्वर्गीय महाराजा माधवराव सिंधिया के द्वारा की गयी थी. यह स्कूल किले के ऊपर में स्थित है. इसके नीचे के व्यू में ग्वालियर शहर और पहाड़ियाँ हैं. यहां प्रवेश लेने के लिए छात्रों को सिंधिया स्कूल एप्टीट्यूड एनालिसिस टेस्ट पास करना पड़ता है. यह टेस्ट हर साल जनवरी से फरवरी के बीच लिया जाता है. जिसमें गणित, अंग्रेजी, हिंदी और सामान्य ज्ञान जैसे विषयों पर प्रश्न पूछे जाते हैं. यहाँ के प्रसिद्ध पूर्व छात्रों के नामों में रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी, सलमान खान, अरबाज खान, अनुराग कश्यप आदि शामिल हैं.

फीस -
सिंधिया स्कूल की सालाना फीस करीबन 12,00,000/- रुपये है.

1. द दून स्कूल, देहरादून -

देहरादून का दून स्कूल भारत के उत्तराखंड में पहाड़ों के बीच एक बेहद खूबसूरत प्राकृतिक स्थान पर स्थित है. यह स्कूल 72 एकड़ के विशाल परिसर में बना हुआ है. छात्रों के रहने और अध्ययन के लिए यह स्कूल सर्वोत्तम है. यह देहरादून में लड़कों का एकमात्र बोर्डिंग स्कूल भी है. इस स्कूल को वर्ष 1935 में स्थापित किया गया था. और तब से यह भारत के बेहतरीन स्कूलों में से एक माना जाता है. बीबीसी, टाइम्स ऑफ इंडिया, द न्यूयॉर्क टाइम्स आदि के द्वारा दून स्कूल को भारत के सर्वश्रेष्ठ स्कूलों में शीर्ष स्थान दिया गया है. स्कूल को विभिन्न मीडिया आउटलेट्स द्वारा 'ईटन ऑफ इंडिया' के रूप में उद्धृत किया गया है और यह अपने छात्रों के व्यक्तित्व को व्यापक रूप से निखार कर दुनिया के सर्वोत्तम विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में प्रवेश के लिए तैयार करता है. दून स्कूल में प्रवेश पाने के लिए छात्रों को अलग-अलग प्रवेश परीक्षा और साक्षात्कार से गुज़ारना होता है. यहाँ के प्रसिद्ध पूर्व छात्रों के नामों में राजीव गांधी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, अली फजल, इमाद शाह जैसे राजनेता और अभिनेता शामिल हैं. दून स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों की सूची में कई राजाओं और नवाबों के नाम भी शामिल हैं.

फीस -
द दून स्कूल, देहरादून की फीस रु. 10,25,000/- प्रति वर्ष है. इसमें अन्य खर्चों की बात करें तो लगभग रु. 25,000/- प्रति टर्म.
 

Free E Books