Download Safalta App
for better learning

Download
Safalta App

X

Set Your Goal

मुगल सम्राटों की सूची List of Mughal Emperors

Safalta Experts Published by: Blog Safalta Updated Thu, 07 Oct 2021 03:32 PM IST
मुगल साम्राज्य भारतीय इतिहास का सबसे बड़े साम्राज्य में से एक है, जिसकी शुरुवात 16 वी शताब्दी से होती है, तथा अंत 19वी शताब्दी के मध्य में अर्थात 1857 के स्वतंत्रता संग्राम से पहले हो जाता है। इस साम्राज्य की गद्दी कुल 19 सम्राटों ने संभाली थी। मुगल साम्राज्य का संस्थापक बाबर था जो मध्य एशिया से आया था। बाबर अपने पूर्वज के बताए रास्ते पर चलकर भारत आया था। उसने इब्राहिम लोदी के साथ लड़ाई लड़ी और उसे हरा दिया और साथ ही उसे पानीपत की लड़ाई में मार डाला और उसके बाद उसने भारत में मुगल साम्राज्य की स्थापना की। यदि आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं और विशेषज्ञ मार्गदर्शन की तलाश कर रहे हैं, तो आप हमारे करंट अफेयर्स को सब्सक्राइब करे FREE Current Affairs Ebook- Download Now 
Source: amarujala



 
Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करें General Knowledge Ebook Free PDF: डाउनलोड करें

मुगल शासकों के विवरण निम्नलिखित है-

1.बाबर: मुगल साम्राज्य का संस्थापक था। यह गंघीज खान का वंशज था, 1526 के पानीपत के युद्ध और खाना के युद्ध के पश्चात इसने मुगल साम्राज्य की स्थापना की थी।

Free Study Materials

Start Your Preparation with Free Courses and E-Books



2. हुमायूं: मुगल साम्राज्य का दूसरा शासक था। इस साम्राज्य पर हुमायूं दो बार शासन किया था। हुमायूं का पहला शासन काल का सबसे बड़ा अवरोधक सूरी वंश के लोग थे, जिनसे हुमायूं युद्ध भी हार चुका था। हुमायूं को हराने वाले शेरशाह सूरी थे, जिन्होंने सूरी वंश की स्थापना भी की थी। हुमायूं का दूसरा शासन काल पहले वाला से बेहतर था। और इसी शासनकाल में हुमायूं अपना उत्तराधिकारी अपना बेटा अकबर को घोषित किया।

3. अकबर: हुमायूं के बाद मुगलों के गद्दी पर अकबर बैठे। अकबर मुगलों के गद्दी पर बैठने वाला सबसे नवयुवक शासक था जो 13 साल के उम्र में ही शासन पद को संभाल लिया।
अकबर और बैरम खान द्वारा पानीपत के दूसरे युद्ध में हेमू को हराया गया, जिसके परिणामत्तः चित्तौड़गढ़ और रणथंभौर पर अधिग्रहण का जीत भी प्राप्त हुआ। अकबर हिंदुओं पर लगे जिज्याह कर को भी खत्म किए।

4. जहांगीर: मुगल साम्राज्य का एक ऐसा शासक था, जिसका संबंध सीधे तौर पर ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी से थे।

5. शाहजहां: मुगलों का एक ऐसा शासक था, जिसने अपने शासनकाल में कला और पुरातत्वविद् का प्रयोग सबसे ज्यादा किया, शाहजहां एक शांतिपुरक शासक था, जिसने अपने कार्यकाल में ताजमहल, जमामस्जिद, लालकिला, शालीमार गार्डन जैसे प्रमुख कला स्थलों और इमारतों का निर्माण किया गया।

यह भी पढ़ें: भारत के राष्ट्रपति और उनका कार्यकाल

6. औरंगजेब: औरंगजेब, शाहजहां का पुत्र था, शाहजहां के मृत्यु के बाद इस गद्दी पर औरंगजेब बैठा। औरंगजेब के शासक बनने के बाद इन्होंने इस्लामिक कानून के संशोधन के बाद उसके जगह फतवा ए आलमगिरी को रखा गया। औरंगजेब के शासनकाल में गलकोंडा सल्तनत के हीरे के खान पर कब्जा किया गया और लगातार 27 साल से चल रही मराठा विद्रोहियों के साथ युद्ध के बाद मुगल साम्राज्य का विस्तार भी हुआ।

7. बहादुर शाह (प्रथम) को मौज़्जम खान के नाम से भी जाना जाता है। उनके शासनकाल के बाद से मुगलों का पतन होना शुरू हो गया। क्योंकि इसके बाद से मुगल साम्राज्य में ऐसे शासक नही थे, जिनके पास नेतृत्व और सही फैसले लेने की क्षमता हो।

8. जहांदर शाह यह मुगलों ने एक ऐसा शासक थे, जिनकी लोकप्रियता शून्य थी, और केवल नाम मात्र के शासन किए।

9. फुरुख्सियार ये मुगल के एक ऐसे शासक थे, जिन्हे सैयद बंधुओं के जोड़ तोड़ और उनके प्रभुत्व के कारण चिन्हित किया गया था, इन्होंने 1717 में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी को बंगाल में करने वाले व्यापार के लिए किसी भी कर को न देने वाले जैसे फरमान को स्वीकृति दी थी।

10. रफी उल दर्जात यह मुगल साम्राज्य का दसवां शासक था, जो फर्रुखसियार से सफल शासक था,इनके नाम का भी घोषणा  सैयद बंधुओं के द्वारा ही की गई थी।

11. रफी उल दौलत इनको मुगलों का शासन संभालने का मौका एक आपात जैसी स्तिथि में काम वक्त के लिए मिला था।

12. मोहम्मद इब्राहिम इब्राहिम, दौलत का भाई था, जिसने सैयद बंधुओं के आदेश पर इनकी गद्दी पर अधिकार किया,ताकि सम्राट मुहम्मद शाह को उनके पद से हटा सके।

13. मुहम्मद शाह शाह को रंगीला के नाम से भी जाना जाता है, यह सैयद बंधुओं से पूरे साम्राज्य को छुटकारा दिलाया। शाह मराठा के पखंडो का उजागर करते हुए इनका विरोध किया और डेक्कन तथा मालवा के लंबी सड़को को एक में मिलाया।

फ्री मॉक टेस्ट का प्रयास करें- Click Here

14. अहमद शाह बहादुर अहमद शाह, मुहम्मद शाह का बेटा था। उसके मंत्री ही सफदरजंग के मुगल सिविल युद्ध के जिम्मेदार थे, उसे मराठा संघ के द्वारा सिकंदराबाद में हराया गया।

15. आलमगीर(द्वितीय) यह भी एक मुगल शासक था, जिसे एक साजिश के तहत इमाद उल मुल्क और उसके मराठा सहयोगी सदाशिवराव भाऊ के द्वारा मार दिया गया था।

16. शाहजहां (तृतीय) इनको मुगलों के गद्दी पर पानीपत के तृतीय युद्ध के बाद राजकुमार प्रिंस मिर्ज़ा जवान बख्त के द्वारा बैठाया गया था।

17. शाह आलम (द्वितीय) इन्हे मुगलों के अंतिम प्रभावी सम्राट के रूप में देखा जाता है। इन्होंने ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के खिलाफ बक्सर के युद्ध में लड़ाई लड़ी।

18. अकबर शाह (द्वितीय) ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी शाह से मिलकर कार्य करती थी, और उनके लिए सुरक्षा व्यवस्था का भी इंतजाम किया गया था।

19. बहादुर शाह (द्वितीय) यह मुगल साम्राज्य के अंतिम सम्राट थे, जिनको अंग्रेजों द्वारा उनसे सारे संपतियों पर अधिग्रहण के बाद बर्मा के बनवास के लिए भेज दिया गया।

भारत में मुगल सम्राटों के शासक की सूची:-
शासक    इनका शासन काल
बाबर  1526-1530
हुमायूं   1530-1540,
1555-1556
अकबर  1556-1605
जहांगीर  1605-1627
शाहजहां   1628-1658
औरंगजेब  1658-1707
बहादुर शाह (प्रथम)  1707- 1712
जहांदर शाह   1712-1713
फरुख्सियार  1713-1719
रफी उल दर्जात   1719
रफी उल दौलत. 1719
मोहम्मद इब्राहिम 1720
मोहम्मद शाह  1719-1720, 1720- 1748
अहमद शाह बहादुर  1748- 1754
आलमगीर (द्वितीय)    1754-1759
शाहजहां (तृतीय)   1759-1760
शाह आलम (द्वितीय)   1760-1806
अकबर शाह (द्वितीय)  1806-1837
बहादुर शाह (द्वितीय)     1837-1857.

भारत के सभी राष्ट्रीय उद्यान

Mughal Emperor Akbar विश्व की दस सबसे लंबी नदियां
भारत के प्रधानमंत्रियों की सूची गांधी जयंती इतिहास और महत्व History of Mughal Emperor Jahangir
                    

  *रोचक तथ्य*
  • 1526 के पानीपत के प्रथम युद्ध में इब्राहिम लोदी को हराने के बाद बाबर ने मुगल साम्राज्य की नीव रखी थी।
  • 1582 में अकबर द्वारा दीन ए इलाही परंपरा की शुरुवात की गई थी।

परीक्षा की तैयारी कैसे करें-

प्रतियोगी परीक्षाओं की बेहतर तैयारी के लिए उम्मीदवार सफलता के फ्री कोर्स की सहायता भी ले सकते हैं। इच्छुक उम्मीदवार परीक्षाओं जैसें- SSC GD, UP लेखपाल, NDA & NA, SSC MTS आदि परीक्षाओं की तैयारी कर सकते हैं। साथ ही उम्मीदवार  Safalta app  से जुड़कर मॉक-टेस्ट्स, ई-बुक्स और करेंट-अफेयर्स जैसी सुविधाओं का लाभ मुफ्त में ले सकते हैं। 

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree